Home /News /nation /

अटल की भतीजी का आरोप- 2019 में फायदे के लिए वाजपेयी का इस्तेमाल कर रही BJP

अटल की भतीजी का आरोप- 2019 में फायदे के लिए वाजपेयी का इस्तेमाल कर रही BJP

सीएनएन न्यूज18 से बात करती हुईं करुणा शुक्ला

सीएनएन न्यूज18 से बात करती हुईं करुणा शुक्ला

करुणा शुक्ला ने आरोप लगता हुए कहा था कि वाजपेयी के जीवनकाल के दौरान पार्टी ने उनके नाम का लाभ लिया था और उनके निधन के बाद भी राजनीतिक फायदे के लिए उनके नाम का इस्तेमाल हो रहा है.

    अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी ने गुरुवार को बीजेपी पर आरोप लगाया कि पार्टी स्वार्थ के चलते 2019 में फायदे के लिए पूर्व प्रधानमंत्री के नाम का इस्तेमाल कर रही है. न्यूज18 के साथ बातचीत करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री की भतीजी करुणा शुक्ला ने कहा, “बीजेपी स्वार्थी पार्टी है और अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर राजनीति कर रही है. उनके नाम का इस्तेमाल करके पार्टी 2019 के चुनाव के लिए तैयार हो रही है.

    करुणा शुक्ला ने आरोप लगाते हुए कहा कि वाजपेयी के जीवनकाल के दौरान पार्टी ने उनके नाम का लाभ लिया था और उनके निधन के बाद भी राजनीतिक फायदे के लिए उनके नाम का इस्तेमाल कर रही है.

    शुक्ला ने कहा कि बीजेपी को अटल बिहारी वाजपेयी की मौत पर राजनीति करने के लिए शर्मिंदा होना चाहिए. उन्होंने कहा कि मतदाताओं को यह बात समझ आ जाएगी.

    यह भी पढ़ें: सादगी की मिसाल थे वाजपेयी: विदेश मंत्री होते हुए भी सर्किट हाउस के बगीचे में ही सो गए

    बता दें कि बीजेपी मुख्यालय से स्मृति स्थल तक अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह और बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं के साथ वाहन के पीछे-पीछे पैदल चले थे.

    अटल बिहारी वाजपेयी अपना कार्यकाल पूरा करने वाले देश के पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री हैं. वाजपेयी ने कई दलों के गठबंधन को सफलतापूर्वक चलाते हुए अपने कार्यकाल को पूरा किया था. 16 अगस्त को लंबी बीमारी के बाद वाजपेयी का निधन हो गया. वह 93 साल के थे.

    ये भी पढ़ें: जब पीएम आवास छोड़ते वक्त वाजपेयी ने कहा था- कैसा प्रोटोकॉल? बैग पैक करो और चलो

    Tags: Atal Bihari Vajpayee, BJP, General Election 2019

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर