लाइव टीवी

वलसाड में सबसे ज़्यादा 74.09% वोटिंग, इसलिए 'शुभ' है गुजरात की ये सीट

News18Hindi
Updated: April 24, 2019, 7:23 PM IST
वलसाड में सबसे ज़्यादा 74.09% वोटिंग, इसलिए 'शुभ' है गुजरात की ये सीट
गुजरात में मतदान.

चुनावी इतिहास गवाह है कि जिस पार्टी ने इस सीट पर जीत हासिल की है, केंद्र में सरकार उसी की बनी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2019, 7:23 PM IST
  • Share this:
(विजयसिंह परमार)

गुजरात में 26 लोकसभा सीटों पर तीसरे चरण में मतदान शांतिपूर्ण हुआ और चार विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव के लिए वोट डाले गए. राजनीति के पंडितों के बीच शुभ मानी जाने वाली वलसाड सीट पर राज्य में सबसे ज़्यादा मतदान दर्ज किया गया.

READ: गुजरात: 'मोदी लहर' भुनाने की कोशिश में BJP, कांग्रेस ने उठाए मुद्दे

गुजरात में 26 लोकसभा सीटों में से सबसे ज़्यादा 74.09 फीसदी वोटिंग वलसाड में हुई. आदिवासी बहुल आबादी वाली अनुसूचित जनजाति के लिए रिज़र्व इस लोकसभा सीट को राजनीतिक पार्टियां रणनीति के लिहाज़ में अहम मानती रही हैं. चुनावी इतिहास देखें तो जिस पार्टी ने ये सीट जीती है, केंद्र में उसी पार्टी की सरकार बनी है.

2014 लोकसभा चुनाव में वलसाड में 74.88 फीसदी मतदान हुआ था और यहां भाजपा को जीत मिली थी. इस बार भाजपा ने इस सीट से वर्तमान सांसद डॉ. केसी पटेल को चुनावी रण में उतारा है जबकि कांग्रेस ने कपराड़ा विधायक जीतू चौधरी को मैदान में खड़ा किया.

2017 के विधानसभा चुनाव में वलसाड संसदीय क्षेत्र में शामिल सात विधानसभा सीटों में से चार भाजपा और तीन कांग्रेस ने जीती थीं.

मंगलवार रात 8 बजे तक गुजरात में कुल 63 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है लेकिन अंतिम आंकड़ा बुधवार तक ही स्पष्ट होगा.कांग्रेस नेताओं ने दावा किया कि इस बार ये सीट कांग्रेस को ​हासिल होगी क्योंकि कांग्रेस के वर्चस्व वाले इलाकों से ग्रामीण वोटरों ने बड़ी तादाद में वोटिंग की है. कांग्रेस नेता ने दावा किया कि कपराड़ा और डंग्स में 80 फीसदी तक मतदान हुआ जबकि धरमपुर और वंशदा में 75 फीसदी तक. भाजपा का वोटिंग आधार वलसाड, पारदी और उमरगांव को शहरी इलाका माना जाता है. इन शहरी इलाकों में 70 फीसदी से कम वोटिंग दर्ज की गई.

READ: पीएम मोदी ने खाते खुलवाए, उनमें 72 हज़ार हम डालेंगे : राहुल गांधी

यह भी एक तथ्य है कि वलसाड सीट को शुभ मानते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने चुनावी प्रचार अभियान की शुरूआत 14 फरवरी को इसी सीट से की थी. दूसरी ओर, गुजरात में वोटिंग संपन्न होने के तुरंत बाद राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि भाजपा राज्य की सभी 26 लोकसभा सीटों पर जीतेगी और नरेंद्र मोदी दोबारा देश के प्रधानमंत्री बनेंगे.

गुजरात में लोकसभा चुनाव में वोटिंग का इतिहास
1962 : 57.96 %
1967 : 63.77 %
1971 : 55.49 %
1977 : 59.21 %
1980 : 55.42 %
1984 : 57.93 %
1989 : 54.70 %
1991 : 44.01 %
1996 : 35.92 %
1998 : 59.30 %
1999 : 47.03 %
2004 : 45.16 %
2009 : 47.89 %
2014 : 63.66 %
ये आंकड़े आधिकारिक रिकॉर्ड से लिये गए हैं. 1962 के लोकसभा चुनाव में राज्य में 22 सीटें थीं, जो 1967 में 24 हुईं. फिर 1977 के लोकसभा चुनाव से राज्य में कुल 26 लोकसभा सीटें हैं.

ये भी पढ़ें:
राफेल केस: राहुल गांधी को SC से अवमानना का नोटिस

बीजेपी से जुड़े सनी देओल, लोगों को याद आए बलवंत राय और हैंडपंप

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Ahmedabad से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 23, 2019, 9:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर