लाइव टीवी

ऑस्ट्रेलिया ने पश्चिमी यरूशलम को इज़राइली राजधानी के तौर पर मान्यता दी

भाषा
Updated: December 15, 2018, 3:27 PM IST
ऑस्ट्रेलिया ने पश्चिमी यरूशलम को इज़राइली राजधानी के तौर पर मान्यता दी
ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की फाइल फोटो

प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने साथ ही कहा कि तेल अवीव से दूतावास को तब तक ट्रांसफर नहीं किया जाएगा, जब तक कोई शांति समझौता नहीं हो जाता.

  • Share this:
ऑस्ट्रेलिया ने पश्चिमी यरूशलम को इज़राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता दे दी है. प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने शनिवार को इसकी घोषणा की, लेकिन साथ ही कहा कि तेल अवीव से दूतावास को तब तक ट्रांसफर नहीं किया जाएगा, जब तक कोई शांति समझौता नहीं हो जाता.

ये भी पढ़ें- इजरायल से दोस्‍ती करेगा सऊदी अरब! फिलिस्तीन को लेकर बदला अपना रुख

मॉरिसन ने भविष्य में पूर्वी यरूशलम को फिलिस्तीन की राजधानी के तौर पर मान्यता देने की भी प्रतिबद्धता जताई. प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिम एशिया में 'उदार लोकतंत्र' का समर्थन करना ऑस्ट्रेलिया के हित में हैं. इसके साथ ही उन्होंने संयुक्त राष्ट्र की आलोचना करते हुए कहा कि उस जगह पर इज़राइल को 'तंग' किया गया.

ये भी पढ़ें- क्यों इस जगह पर लाल रंग के जूते छोड़कर जा रही हैं महिलाएं?

बता दें कि यरूशलम को इजरायल और फिलिस्तीन दोनों ही अपनी राजधानी बताते हैं. इस शहर को इजरायल ने 1967 में कब्जे में ले लिया था. यरूशलम में यहूदी, मुस्लिम और ईसाई तीनों धर्मों के पवित्र स्थल हैं. टेंपल माउंट यहूदियों का सबसे पवित्र स्थल है, वहीं अल-अक्सा मस्जिद को मुस्लिमों के मुकद्दस जगह है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2018, 3:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर