ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने ट्वीट की आम की चटनी के साथ समोसे की तस्वीर, PM मोदी बोले- कोरोना को हराने के बाद साथ खाएंगे

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने ट्वीट की आम की चटनी के साथ समोसे की तस्वीर, PM मोदी बोले- कोरोना को हराने के बाद साथ खाएंगे
ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने ट्वीट की आम की चटनी के साथ समोसे की तस्वीर,

ऑस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) के ट्वीट पर जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लिखा, 'जब हम COVID-19 के खिलाफ निर्णायक जीत हासिल कर लेगें, फिर एक साथ इस समोसे का आनंद लेंगे.'

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) के उस ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी है जिसमें उन्होंने समोसे की तस्वीर ट्वीट की है. प्रधानमंत्री ने मॉरिसन के ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी कि 'हिंद महासागर से जुड़ा, भारतीय समोसे से मिलता जुलता. प्रधानमंत्री मॉरिसन यह स्वादिष्ट लग रहा है.' प्रधानमंत्री ने लिखा कि - 'जब हम COVID-19 के खिलाफ निर्णायक जीत हासिल कर लेगें फिर एक साथ समोसे का आनंद लेंगे. आपके साथ चार तारीख को हमारे वीडियो का इंतजार है.'

बता दें ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने ट्वीट में लिखा कि - 'आम की चटनी के साथ संडे समोसा. इस हफ्ते में उनके साथ वीडियो मीटिंग होनी है. वे शाकाहारी हैं, मैं इसे उनके साथ शेयर करना पसंद करूंगा.'





4 जून को होगी पीएम और ऑस्ट्रेलिया के पीएम के बीच मीटिंग
मॉरिसन के ट्वीट को अब तक 39,000 से ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं. मॉरिसन के ट्वीट के जवाब में, भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा, 'मिशलिन स्टार के लिए अपना नाम प्रस्तावित करना चाहिए.'



बता दें दोनों प्रधानमंत्रियों की 4 जून को वर्चुअल बैठक होने वाली है, जिसमें आर्थिक और रणनीतिक क्षेत्रों में संबंधों के और मजबूत होने की उम्मीद है.

कोविड-19 के यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पहला द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन होगा. शिखर सम्मेलन के लिए जनवरी में भारत आने वाले आस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन को अपने देश के बड़े हिस्से को तबाह करने वाले विनाशकारी बुशफायर के कारण अपनी यात्रा को रद्द करना पड़ा था. भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को कहा मई के लिए यात्रा की योजना बनाई जा रही थी, लेकिन अब शिखर सम्मेलन 4 जून को होना है.

उम्मीद है कि दोनों देश शिखर सम्मेलन के दौरान अल्टर्नेटिव सप्लाई चेन बनाने के उद्देश्य से मिलिट्री लॉजिस्टिक फैसेलिटी और अन्य समझौते के लिए पारस्परिक पहुँच के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे.
First published: May 31, 2020, 2:17 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading