किताब में भगवान राम पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला लेखक अरेस्ट

केएस भगवान (फाइल फोटो)
केएस भगवान (फाइल फोटो)

अपनी किताब 'राम मंदिर येके बेडा' (राम मंदिर की ज़रूरत नहीं है) में उन्होंने लिखा है कि राम भगवान नहीं थे और उनमें भी बाकी सभी इंसानों की तरह तमाम कमियां थीं.

  • News18.com
  • Last Updated: January 2, 2019, 11:11 AM IST
  • Share this:
शिक्षाविद और लेखक केएस भगवान को भगवान राम और महात्मा गांधी की निंदा करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. आईपीसी की धारा 295 ए के अंतर्गत जानबूझकर किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में उन पर केस दर्ज किया गया है. पुलिस ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी गई.

अपनी किताब 'राम मंदिर येके बेडा' (राम मंदिर की ज़रूरत नहीं है) में उन्होंने लिखा है कि राम भगवान नहीं थे और उनमें भी बाकी सभी इंसानों की तरह तमाम कमियां थीं. इस बात को लेकर दक्षिणपंथी गुटों ने शुक्रवार को उनके खिलाफ प्रदर्शन किए थे. उन्होंने आरोप लगाया था कि केएस भगवान ने अपनी किताब में भगवान राम को गलत तरीके से पेश किया है और उनके खिलाफ अपमानजनक तरीके से लिखा है.

अयोध्या में हिंदू संगठनों के जमावड़े के पीछे बीजेपी-RSS की पॉलिटिकल स्ट्रेटेजी: जिलानी



शनिवार को 'हिंदू जागरण वेदिके मैसुरू' के जिलाध्यक्ष के जगदीश हेब्बर द्वारा शनिवार को इस मामले में शिकायत दर्ज कराई गई थी. लेखक ने इससे पहले भगवद्गीता के बारे में भी आपत्तिजनक टिप्पणियां की थीं और अब उन्होंने भगवान राम के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की है.
हालांकि लेखक ने अपना बचाव यह कहकर किया है कि ऐसा वाल्मीकि रामायण में लिखा हुआ है. हिंदू समर्थक कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किया और गिरफ्तारी की मांग की. बीजेपी की कर्नाटक इकाई ने मुख्यमंत्री एचडी कुमार स्वामी पर उनकी चुप्पी के लिए निशाना साधा है और लेखक को गिरफ्तार करने की मांग की है. बीजेपी के विधायक एस सुरेश ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि राज्य सरकार के पास दो विकल्प हैं- 'या तो भगवान को जेल भेज दें और या तो मेंटल हॉस्पिटल.'

किन्नर अखाड़े ने किया VHP का समर्थन, कहा-'जो राम' का नहीं वो किसी काम का नहीं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज