लाइव टीवी

जल्द ही भारत में शुरू होगा बिना चीड़-फाड़ किए शव परीक्षण - हर्षवर्धन

भाषा
Updated: December 3, 2019, 3:18 PM IST
जल्द ही भारत में शुरू होगा बिना चीड़-फाड़ किए शव परीक्षण - हर्षवर्धन
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन

हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने कहा कि नयी पद्धति में समय भी कम खर्च होगा और यह किफायती भी होगी. इसमें डिजिटल रिकार्ड भी रखा जा सकेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने मंगलवार को कहा कि भारत में जल्दी ही एक नई तकनीक से शव परीक्षण (Autopsy) किया जा सकेगा, जिसमें शवों की चीड़-फाड़ करने की जरूरत नहीं होगी. भारत इस पद्धति की शुरुआत करने वाला पहला दक्षेस देश होगा.

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने राज्यसभा को बताया कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद मिलकर ऐसी तकनीक पर काम कर रहे हैं जिसमें बिना चीड़-फाड़ किए ही शव परीक्षण (वर्चुअल ऑटोप्सी) हो सकेगा. इसका एक मकसद शवों का गरिमामय तरीके से निस्तारण भी है.

उन्होंने प्रश्नकाल में विभिन्न पूरक सवालों के जवाब में कहा कि इस तकनीक के अगले छह महीने में चालू होने की संभावना है.

यह तकनीक स्विट्जरलैंड, ब्रिटेन, जर्मनी, जापान, नार्वे सहित कई देशों में शुरू हो गया है. हर्षवर्धन ने कहा कि नयी पद्धति में समय भी कम खर्च होगा और यह किफायती भी होगी. इसमें डिजिटल रिकार्ड भी रखा जा सकेगा.

उन्होंने बताया कि अभी एम्स में हर साल करीब तीन हजार शव परीक्षण किए जाते हैं.

ये भी पढ़ें : नौसेना की योजना है कि उसके पास तीन विमानवाहक पोत हों : नौसेना प्रमुख

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 3:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...