लाइव टीवी

Ayodhya case Verdict: RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, अब मिल-जुलकर राम मंदिर बनाएंगे

News18Hindi
Updated: November 9, 2019, 2:05 PM IST
Ayodhya case Verdict: RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, अब मिल-जुलकर राम मंदिर बनाएंगे
संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि अयोध्‍या जमीन विवाद मामले में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर खुशी जाहिर करते समय देशवासी संयम बरतें.

आरएसएस प्रमुख (RSS Chief) मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने कहा कि संघ अयोध्‍या जमीन विवाद (Ayodhya Land Dispute Case) पर दिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले (Supreme Court Verdict) का स्‍वागत करता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 2:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. अयोध्‍या जमीन विवाद मामले (Ayodhya Land Dispute Case) में सुप्रीम कोर्ट के फैसले (Supreme Court Verdict) पर राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने कहा कि अब सभी को मिल-जुलकर राममंदिर बनाना है. मोहन भागवत ने अपने भाषण (Mohan Bhagwat Speech) में कहा कि सभी को सुप्रीम कोर्ट का फैसला सहजता से स्‍वीकार करते हुए देश में शांति व सौहार्द्र बनाए रखना है.

कोर्ट ने सभी पहलुओं और तर्कों का बारीक मूल्‍यांकन कर दिया फैसला
मोहन भागवत ने कहा कि संघ सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्‍वागत करता है. कोर्ट ने सभी पहलुओं और सभी पक्षों के तर्कों का बारीकी से मूल्‍यांकन किया. उन्‍होंने फैसले देने वाले सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) के साथ ही सभी जजों और पक्ष रखने वाले वकीलों (Lawyers) का धन्‍यवाद किया. साथ ही न्‍याय का इंतजार करने वाली जनता का भी अभिनंदन किया. उन्‍होंने कहा कि समाज ने फैसले को सहजता के साथ स्‍वीकार किया है. इस फैसले से जनता की भावना को न्‍याय मिला है. उन्‍होंने केंद्र की तारीफ करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) ने देश में शांति व सौहार्द्र (Peace and Harmony) बनाए रखने के लिए शानदार तैयारी की.

ये किसी की हार-जीत का फैसला नहीं, खुशी जाहिर करने में बरतें संयम

मोहन भागवत ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि सभी अपनी खुशी का इजहार करते समय संयम (Moderation) बरतें. ये फैसला किसी की हार या जीत (Win or Lose) से जुड़ा हुआ नहीं है. देशवासी शांति व सौहार्द्र बनाए रखें. जब उनसे पूछा गया कि वक्‍फ बोर्ड (Waqf Board) को कहां जमीन दी जाएगी तो उन्‍होंने कहा, 'ये केंद्र सरकार (Central Government) का काम है. हम तो अब वहां मिलकर राममंदिर (Ram Temple) बनाएंगे. भव्‍य राम मंदिर मंदिर निर्माण में सभी अपना कर्तव्‍य निभाएं. मैं इस दिशा में किए गए प्रयासों के दौरान बलिदान देने वालों का अभिनंदन करता हूं.

काशी-मथुरा के सवाल को टाला, कहा-विवाद खत्‍म करना सरकार का काम
News18 ने जब पूछा कि राम जन्‍मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब काशी (kashi) और मथुरा (Mathura) विवाद को लेकर संघ (RSS) की रणनीति क्‍या होगी तो संघ प्रमुख भागवत ने सीधा जवाब देने से बचते हुए कहा कि आरएसएस कोई आंदोलन नहीं करता है. विवाद खत्‍म करना सरकार का काम है. हमें मिजलुकर मंदिर बनाना है. वहीं, एक सवाल पर उन्‍होंने कहा कि ये देश सभी का है. हिंदू (Hindu) और मुस्लिमों (Muslims) को मिल-जुलकर रहना है. सभी को मिलकर झगड़ा और विवाद खत्‍म करना है.
Loading...

ये भी पढ़ें- अमित शाह ने कहा, राम जन्‍मभूमि को लेकर दशकों पुराना कानूनी विवाद खत्‍म हुआ

सुप्रीम कोर्ट में इस तरह 9 साल तक चला राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद मामला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 1:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...