लाइव टीवी

Ayodhya Dispute: राजीव धवन से बोले CJI -कह देना हिंदू पक्ष की ओर से पेश नक्‍शा फाड़ने को मैंने कहा था

News18Hindi
Updated: October 17, 2019, 3:16 PM IST
Ayodhya Dispute: राजीव धवन से बोले CJI -कह देना हिंदू पक्ष की ओर से पेश नक्‍शा फाड़ने को मैंने कहा था
अयोध्‍या मामले में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने हिंदू पक्ष की ओर से पेश नक्‍शे को फाड़ दिया था. दरअसल, धवन ने कहा था कि मैं इसे फेंक रहा हूं. इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि जो करना है करो, तो उन्‍होंने उसे फाड़ दिया.

अयोध्‍या में विवादित भूमि मामले (Ayodhya Land Dispute Case) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में 40 दिन से चल रही सुनवाई (Hearing) बुधवार को पूरी हो गई. इस दौरान मुस्लिम पक्ष (Muslim Party) के वकील राजीव धवन (Rajiv Dhavan) ने हिंदू पक्ष (Hindu Party) की ओर से पेश नक्‍शा (Map) पांच टुकड़ों में फाड़ दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 3:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अयोध्या के विवादित जमीन मामले (Ayodhya Land Dispute Case) में 40 दिन तक सभी पक्षों की दलीलें (Arguments) सुनीं. इस मामले की सुनवाई बुधवार को पूरी हो गई और कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया. मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) की अध्‍यक्षता वाली पांच सदस्‍यीय संविधान पीठ (Constitution Bench) ने सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में दूसरी सबसे लंबी सुनवाई की. सुनवाई के दौरान एक मौका ऐसा भी आया जब कोर्ट रूम के अंदर ही नहीं बाहर भी लोगों की त्‍योरियां चढ़ गईं. दरअसल, मुस्लिम पक्ष की ओर से पेश वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता राजीव धवन ने हिंदू पक्ष (Hindu Party) की ओर से अदालत में पेश किए गए राम जन्‍मभूमि के नक्‍शे (Map) को फाड़ दिया. अब राजीव धवन का कहना है कि नक्‍शा फाड़ने के लिए सीजेआई ने ही कहा था.

धवन ने कहा -  मैं नक्‍शे को किसी भी सूरत में इसे मंजूरी नहीं दे सकता
सुनवाई के दौरान हिंदू महासभा के वकील विकास सिंह ने शीर्ष अदालत में राम जन्‍मभूमि (Ram Janmbhoomi) का एक नक्‍शा पेश किया. विकास सिंह ने कहा कि मैं इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) की लखनऊ पीठ (Lucknow Bench) के फैसले के मुताबिक एक नक्शा दिखाना चाहता हूं. मुस्लिम पक्ष (Muslim Party) के वकील राजीव धवन (Rajiv Dhavan)ने कहा कि यह भी किताब का हिस्सा है. मैं किसी भी सूरत में इसे मंजूरी नहीं दे सकता. ये कहते हुए धवन ने नक्शा फाड़ डाला और पांच टुकड़े कर दिए. यह खबर बाहर आते ही सोशल मीडिया (Social Media) पर चर्चा का विषय बन गई.

मुस्लिम पक्ष के वकील ने बताया, नक्‍शा फाड़ने का फैसला मेरा नहीं था

राजीव धवन ने बताया कि हिंदू पक्ष की ओर से पेश नक्शा फाड़ने का फैसला उनका अकेले का नहीं था. उन्होंने बताया, 'मैंने कोर्ट में कहा था कि मैं इसे फेंक रहा हूं. इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि जो करना है करो, तो मैंने उसे फाड़ दिया.' सोशल मीडिया में इस वाकये की खबरें वायरल होने लगीं. इस पर मुख्‍य न्यायाधीश ने राजीव धवन से कहा, 'आप अपनी सफाई में कह सकते हैं कि सीजेआई ने नक्‍शा फाड़ने को कहा था.' वहीं, जस्टिस संविधान पीठ में शामिल एसए नजीर ने कहा कि नक्‍शा फाड़ने की खबर वायरल हो रही है और हमने भी देखी है.

हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुनवाई कर रही है संविधान पीठ
अयोध्‍या मामले की सुनवाई पूरी होने के बाद उम्‍मीद की जा रही है कि 17 नंवबर से पहले फ़ैसला सुनाया जा सकता है. दरअसल, 17 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई रिटायर हो रहे हैं. इस मामले की सुनवाई कर रही पांच जजों की संविधान पीठ में CJI रंजन गोगाई के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, डीवाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एसए नज़ीर शामिल हैं. संविधान पीठ इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 में दिए उस फ़ैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई कर रही थी, जिसमें पक्षकार रामलला, निर्मोही अखाड़ा और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड को 2.77 एकड़ की विवादित ज़मीन में बराबर-बराबर हिस्सा देने की बात कही गई थी.
Loading...

ये भी पढ़ें:

EXCLUSIVE:अमित शाह ने कहा-सभी स्‍वीकारेंगे राममंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

EXCLUSIVE: अमित शाह ने बताईं PM मोदी की 3 बड़ी उपलब्धियां, कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 2:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...