लाइव टीवी

अयोध्या भूमि विवाद की सुनवाई तय कार्यक्रम के अनुसार नहीं हो रही : सुप्रीम कोर्ट

भाषा
Updated: September 27, 2019, 9:12 PM IST
अयोध्या भूमि विवाद की सुनवाई तय कार्यक्रम के अनुसार नहीं हो रही : सुप्रीम कोर्ट
अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट की 33वें दिन सुनवाई हुई.

अयोध्या विवाद पर सुनवाई के लिए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में सुनवाई हो रही है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 27, 2019, 9:12 PM IST
  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले की सुनवाई 'कार्यक्रम के अनुसार' नहीं हो रही है. कोर्ट ने इस मामले में दलीलें पूरी करने के लिए 18 अक्टूबर की समयसीमा तय की है.

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ राजनीतिक रूप से संवेदनशील मामले की सुनवाई 33 वें दिन कर रही थी. कोर्ट ने पहले स्पष्ट किया था कि मुस्लिम पक्षकारों को 27 सितंबर को दोपहर एक बजे तक अपनी दलीलें पूरी कर लेनी चाहिए.

पीठ ने वकील से पूछा- 
पीठ ने वरिष्ठ वकील शेखर नफाडे से सवाल किया, 'आप कितना समय लेंगे?' मुस्लिम पक्ष की ओर से पेश वरिष्ठ वकील ने कहा कि वह दो घंटों के अंदर अपना पक्ष रख देंगे. पीठ में जस्टिस एस ए बोबडे, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस ए नजीर भी शामिल हैं.

उनकी बातें सुनने के बाद पीठ ने शुक्रवार की सुनवाई पूरी कर ली और चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने टिप्पणी की, 'चीजें हमारे कार्यक्रम के अनुसार नहीं चल रही हैं.' पीठ 30 सितंबर को मामले में फिर से सुनवाई करेगी.

यह भी पढ़ें: मुस्लिम पक्ष की दलील खारिज, सुप्रीम कोर्ट ने कहा ASI की रिपोर्ट कोई आम राय नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 27, 2019, 9:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर