अपना शहर चुनें

States

फैजाबाद से हैदराबाद तक... मुस्लिम समुदाय ने मंदिर के लिए चंदा देकर कायम की मिसाल

अयोध्या राम मंदिर के लिए चंदे के जरिए पैसे जुटाए जा रहे हैं. (Demo Pic).
अयोध्या राम मंदिर के लिए चंदे के जरिए पैसे जुटाए जा रहे हैं. (Demo Pic).

Ram Temple in Ayodhya: राम मंदिर के लिए चंदा वसूलने के क्रम में भारत में विभिन्नता में एकता की बात साफ़-साफ़ पता चलती है. इस कार्य से विभिन्न धर्म के लोगों में आपसी विश्वास, प्रेम और आदर के भाव का पता चलता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 1:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अयोध्या (Ayodhya) में बनने वाले राम मंदिर (Ram Temple) के लिए न केवल हिंदू बल्कि दूसरे धर्मों के लोग भी चंदा दे रहे हैं. धर्म एकता और सामंजस्य का पाठ पढ़ाने वाली गंगा-जमुनी तहजीब का जीवंत उदाहरण अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए मुसलमानों का चंदा देना है. उत्तर प्रदेश के फ़ैज़ाबाद स्थित राम भवन, अयोध्या में रविवार को राम मंदिर निर्माण के लिए मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) के लोगों ने चंदा दिया. चंदा देने वाले एक व्यक्ति ने कहा, “हम हिंदुस्तान के हैं. हम भले ही अलग धर्म के हों पर तुर्की से नहीं आए हैं. हमारे पूर्वज इसी धरती में पैदा हुए और अपने हिंदू भाइयों के साथ हम मिलकर रहते हैं.”

ऐसे ही पाटन, गुजरात के मुस्लिम डॉक्टर परिवार ने राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा देकर दोनों धर्म के लोगों के बीच एकता की मिसाल क़ायम की है. डॉक्टर हामिद मंसूरी और उनकी पत्नी ने ₹1.51 लाख रुपया चंदा देकर मानवता, एकता एवं शुभेच्छा का संदेश दिया है. डॉक्टर हामिद मंसूरी ने मीडिया से बातचीत में कहा, "भगवान राम ने हम सभी को एक साथ रखा है. किसी के साथ ऊंच-नीच का भेदभाव नहीं होता है. देश में सभी लोग बराबर हैं और सभी प्रगति के लिए योगदान दे रहे हैं." उन्होंने कहा कि अलग संस्कृति, धर्म और भाषा के बावजूद हमारे देश के लोग प्यार और भाईचारा दिखाते हुए एक साथ रहते हैं.





राम मंदिर के लिए चंदा वसूलने के क्रम में भारत में विभिन्नता में एकता की बात साफ़-साफ़ पता चलती है. इस कार्य से विभिन्न धर्म के लोगों में आपसी विश्वास, प्रेम और आदर के भाव का पता चलता है. आंध्र प्रदेश के मंगलगिरी की एक मुस्लिम महिला अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा वसूल रही है. ज़हरा बेग़म तहेरा ट्रस्ट की संचालक हैं, जोकि तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में सक्रिय हैं. ज़हरा मुस्लिम समुदाय के लोगों को हिंदू भगवान राम के मंदिर निर्माण के लिए चंदा देने के लिए उत्साहित कर रही हैं.
ज़हरा ने लोगों को चंदा देने के लिए आगे आने का आह्वान करते हुए कहा, “यह हमारा सौभाग्य है कि हम उस देश में पैदा हुए हैं, जहां श्रीराम पैदा हुए थे और यह भी हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि हमारे सामने राम मंदिर का निर्माण हो रहा है. श्रीराम ने हमें जीवन में धर्म के मार्ग पर चलना सिखाया है. हम सभी को आगे आकर भगवान के इस कार्य में हाथ बँटाना चाहिए और अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में खुले दिल से मदद करनी चाहिए”.

उन्होंने कहा कि इस कार्य में थोड़ा योगदान भी बड़ा साबित होगा, क्योंकि यह सिर्फ चंदा ही नहीं है, बल्कि यह देश की एकता, आपसी प्रेम के साथ-साथ दूसरे धर्म के प्रति आदर दिखाना भी है. हैदराबाद के मल्लपुर निवासी सैयद इब्राहिम ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए ₹50 चंदा दिया. उन्होंने कहा, “हिंदू-मुस्लिम दोनों ही संप्रदाय के लोगों को एक होकर धार्मिक सामंजस्य के साथ रहना चाहिए.”

बता दें कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए 15 जनवरी से जनजागरण और चंदा वसूलने का अभियान शुरू किया. यह अभियान 27 फरवरी तक चलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज