लाइव टीवी

'आज़ादी' और 'सरफ़रोशी की तमन्ना' के जरिए इस तरह एकजुट हुए जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्र

News18Hindi
Updated: December 16, 2019, 3:14 PM IST
'आज़ादी' और 'सरफ़रोशी की तमन्ना' के जरिए इस तरह एकजुट हुए जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्र
'आज़ादी' और 'सरफ़रोशी की तमन्ना' के जरिए एकजुट हुए देशभर के छात्र.

दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्रों की ओर से नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, 2019 के खिलाफ विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था. इस झड़प के दौरान चार सार्वजनिक बसों और दो पुलिस वाहनों को आग लगा दी गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 16, 2019, 3:14 PM IST
  • Share this:
सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है,
देखना है जोर कितना बाजू-ए-कातिल में है

बिस्मिल अज़ीमाबादी की प्रसिद्ध उर्दू नज़्म ने देश के दो बड़े संस्थानों दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया और यूपी के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों को एकजुट करने में अहम भूमिका निभाई. गौरतलब है कि रविवार को दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्रों की ओर से नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, 2019 के खिलाफ विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था. इस झड़प के दौरान चार सार्वजनिक बसों और दो पुलिस वाहनों को आग लगा दी गई थी.

बता दें कि विरोध प्रदर्शन कर रही भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस छोड़े और लाठी चार्ज कर दिया. इस विरोध प्रदर्शन की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं, जिसमें छात्रों का वीडियो और पुलिस गोलीबारी की तस्वीरें दिखाई दे रही हैं. बताया जा रहा है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए कथित तौर पर पचास छात्रों को हिरासत में ले लिय गया था, हालांकि बाद में उन्हें देर रात छोड़ दिया गया था.



नागरिका संशोधन एक्ट के विरोध में जामिया मिलिया इस्लामिया के साथ ही उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में भी हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ, जिसके बाद अधिकारियों ने 5 जनवरी तक कॉलेज बंद कर दिया गया है और छात्रों को हॉस्टल खाली करने के लिए कहा गया है.



बता दें कि जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्रों को हिरासत में लेने के बाद यह आंदोलन देशव्यापी विरोध में बदल गया था. दिल्ली के प्रदर्शनकारी दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर बड़ी संख्या में एकत्रित हुए और अपने साथियों की रिहाई की मांग की. इस दौरान छात्रों ने सड़क पर उतरकर ये दिखा दिया कि उनकी आवाज को दबाया नहीं जा सकता है.



कोलकाता के जादवपुर विश्वविद्यालय, पुडुचेरी विश्वविद्यालय, मुंबई विश्वविद्यालय, आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी मद्रास मौलाना आज़ाद विश्वविद्यालय द्वारा शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन रविवार देर रात हैदराबाद में किया गया जो सोमवार तक जारी रहा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 3:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर