तीन तलाक पर लोकसभा में बोले आजम खान, कुरान की राय से अलग कोई बात नहीं मानेंगे

सोमवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान आजन कहा कि तीन तलाक व्यक्तिगत मामला है और इसमें कुरान से हटकर कोई बात स्वीकार नहीं की जाएगी.

News18Hindi
Updated: June 25, 2019, 9:13 AM IST
News18Hindi
Updated: June 25, 2019, 9:13 AM IST
सरकार ने लोकसभा में तीन तलाक बिल पेश कर दिया है, जिस पर समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान ने कहा कि वह कुरान की ही राय मानेंगे. सोमवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान आजन कहा कि तीन तलाक व्यक्तिगत मामला है और इसमें कुरान से हटकर कोई बात स्वीकार नहीं की जाएगी.

आजम खान ने कहा, “कोई एक तलाक मानता है, माने. कोई दो मानता है, माने. कोई तीन तलाक मानता है, माने. नहीं मानता मत माने. मैं कहता हूं कि यह हमारा व्यक्तिगत मामला है, इस पर कुरान जो फैसला देता है उस राय से हटकर कोई बात कबूल नहीं की जाएगाी, हरगिज नहीं की जाएगी.”

आजम ने सरकार की मंशा पर उठाए सवाल

इस दौरान आजम खान ने सरकार की मंशा पर भी सवाल उठाए और कहा, “ये जो महिलाओं के बड़े हमदर्द बनते हैं, महिला हितों की बड़ी वकालत करते हैं, महिला के दुख और दर्द के बारे में भी बताएं.”

आजम ने सवाल किया कि सबरीमाला मामले में एक पैमाना और मुस्लिम तलाकशुदा महिलाओं के लिए अलग पैमाना क्यों? उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का अंदेशा है कि कही लोग शादी, निकाह और मंडप से डरने न लगें और शादी का रिवाज ही खत्म हो जाए और लोग लिव-इन को ही पसंद करने लगें.

ये भी पढ़ें: तीन तलाक बिल अगर कुरान के मुताबिक है तो हमें कबूल है: आजम
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...