• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • बाबा राम रहीम पर फैसला कभी भी, सुनवाई अंतिम दौर में

बाबा राम रहीम पर फैसला कभी भी, सुनवाई अंतिम दौर में

हरियाणा के सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के बाबा राम रहीम से जुड़े साध्वियों के यौन शोषण के मामले को लेकर पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में सुनवाई अब अंतिम दौर में पहुंच चुकी है.

हरियाणा के सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के बाबा राम रहीम से जुड़े साध्वियों के यौन शोषण के मामले को लेकर पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में सुनवाई अब अंतिम दौर में पहुंच चुकी है.

हरियाणा के सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के बाबा राम रहीम से जुड़े साध्वियों के यौन शोषण के मामले को लेकर पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में सुनवाई अब अंतिम दौर में पहुंच चुकी है.

  • Share this:
हरियाणा के सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के बाबा राम रहीम से जुड़े साध्वियों के यौन शोषण के मामले को लेकर पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में सुनवाई अब अंतिम दौर में पहुंच चुकी है. कभी भी इस मामले में कोर्ट अपना फैसला सुना सकती है. बुधवार को इस मामले को लेकर सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में अहम सुनवाई हुई. सीबीआई के वकील ने जहां चार्जशीट के आधार पर गुरमीत राम रहीम पर लगाए गए आरोपों को लेकर बहस की. वहीं बचाव पक्ष की तरफ से भी दलीलें देकर इन आरोपों का जवाब दिया गया.

इस मामले में सिर्फ अंतिम बहस और दलीलों का दौर जारी है. इसके बाद जल्द ही सीबीआई स्पेशल कोर्ट अपना फैसला सुना सकती है. पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में इस मामले पर अब तकरीबन डे टू डे बेसिस पर ही सुनवाई हो रही है. बुधवार को करीब 2 घंटे चली सुनवाई के बाद गुरुवार को भी इस मामले में सुनवाई जारी रहेगी.

सिरसा के डेरा सच्चा सौदा के बाबा राम रहीम पर 2002 में साध्वियों के यौन शोषण के आरोप लगे थे. इसके बाद इस मामले की जांच हाईकोर्ट ने सीबीआई को सौंप दी थी. दरअसल मई 2002 में एक युवती ने बाबा पर आरोप लगाते हुए यौन शोषण को लेकर एक खत मीडिया, पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, प्रधानमंत्री को भेजा था. इस पर हरियाणा और पंजाब में खूब बवाल मचा था. उच्च न्यायालय ने उस पत्र पर संज्ञान लेते हुए 24 सितंबर 2002 को सीबीआई को इस पत्र के आधार पर जांच का जिम्मा सौंपा था.

इस पर जांच के बाद सीबीआई अधिकारियों ने जांच को पूरा कर रिपोर्ट को जुलाई 2007 में सीबीआई अदालत को सौंप दिया था. इस मामले में सीबीआई की ओर से गवाही और बहस पूरी कर ली गई है. डेरा प्रमुख की ओर से अपने बचाव में दो युवतियों को ओर गवाह के तौर पर पेश करने की अर्जी उनके वकील द्वारा पेश की गई. सीबीआई के वकील की बहस के बाद इसे खारिज कर दिया था. अब इस मामले में सुनवाई और बहस पूरी हो चुकी है और पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट कभी भी इस मामले में आरोप तय कर सकती है और अपना फैसला सुना सकती है.

अब इस मामले में पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट में सुनवाई अंतिम दौर में है. इसी के चलते आने वाले कुछ दिनों के लिए पंजाब और हरियाणा में हाई-एलर्ट घोषित कर दिया गया है. पंजाब के कई इलाकों में पुलिस ने अपनी फोर्स भी लगानी शुरू कर दी है. पंजाब के कई जिलों में डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों का काफी होल्ड है और इन तमाम इलाकों पर पंजाब पुलिस के साथ-साथ पैरामिलिट्री फोर्सेस की कंपनियों को तैनात करने की तैयारी भी की जा रही है.

पंजाब में जहां-जहां डेरा सच्चा सौदा के नाम चर्चाघर है. उसके आसपास खासतौर पर पंजाब पुलिस अपनी फोर्स की तैनाती कर रही है. अगर ये फैसला डेरा सच्चा सौदा के खिलाफ आता है तो ऐसे में डेरे और गुरमीत राम रहीम से जुड़े अनुयायी भड़क सकते हैं और पंजाब और हरियाणा, इन दोनों ही प्रदेशों की कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है. इसी के चलते केंद्रीय गृह सचिव ने भी इन दोनों ही प्रदेशों के डीजीपी और मुख्य सचिव के साथ दिल्ली में मीटिंग की और पूरे हालात की समीक्षा की.

जानकारी ये भी है कि पंजाब और हरियाणा दोनों ही राज्यों को डेरे के खिलाफ फैसला आने से कानून-व्यवस्था बिगड़ने की आशंका है. इसी के चलते दोनों ही राज्यों ने केंद्र से पैरामिलिट्री फोर्सेज की टुकड़ियां मांगी है और अपने राज्य की पुलिस को भी हाई अलर्ट पर रखा है.

सुनवाई के अंतिम दौर में आने से हरियाणा और पंजाब दोनों ही प्रदेशों की बेचैनी बढ़ गई है. क्योंकि इन दोनों ही प्रदेशों में डेरे से जुड़े अनुयायियों का काफी होल्ड है पर ऐसे में कानून व्यवस्था की स्थिति ना बिगड़े, इसके चलते दोनों ही राज्य अपनी तरफ से सुरक्षा-व्यवस्था को पुख्ता करने में लगे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज