होम /न्यूज /राष्ट्र /सांसद पद से इस्तीफा देने के लिए बाबुल सुप्रियो ने ओम बिरला से मांगा समय, जानें टीएमसी नेता को क्या मिला जवाब

सांसद पद से इस्तीफा देने के लिए बाबुल सुप्रियो ने ओम बिरला से मांगा समय, जानें टीएमसी नेता को क्या मिला जवाब

टीएमसी नेता इससे पहले भी कई बार समय मांग चुके हैं. (फाइल फोटो)

टीएमसी नेता इससे पहले भी कई बार समय मांग चुके हैं. (फाइल फोटो)

लगभग एक महीने पहले बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) ने सक्रिय राजनीति से इस्तीफा देने की घोषणा की थी. इस्तीफा देने के बाद ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) अब टीएमसी के साथ हैं. बीजेपी से त्याग पत्र देने वाले बाबुल सुप्रियो ने फिलहाल अभी तक सांसद पद से इस्तीफा नहीं दिया है. अब मीडिया रिपोर्ट में यह खबरें सामने आ रही हैं कि लोकसभा सांसद ने अब इस संबंध में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) से बात की है. कहा जा रहा है कि बाबुल सुप्रियो ने उनसे लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा देने के लिए समय मांगा है.

    गौरतलब है कि लगभग एक महीने पहले ही उन्होंने सक्रिय राजनीति से इस्तीफा देने की घोषणा की थी. इस्तीफा देने के बाद उन्होंने पहले तो यह कहा था कि वह कभी भी दूसरी पार्टी नहीं ज्वाइन करेंगे, लेकिन कुछ दिनों पहले ही उन्होंने टीएमसी का दामन थाम लिया. टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी और डेरेक ओ ब्रायन की मौजूदगी में उन्होंने तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की.

    यह भी पढ़ें- महंत नरेंद्र गिरि केस: CBI जांच के 7 द‍िन, जानें कहां तक पहुंची इन्वेस्टिगेशन, म‍िले क्या-क्या सबूत?

    यह भी पढे़ं- Bareilly News: शादी के 10वें दिन दुल्हन हुई 8 महीने की प्रेगनेंट, दूल्हे के उड़े होश!

    दूसरी पार्टी ज्वाइन करने के बावजूद उन्होंने अभी तक सांसद पद से इस्तीफा नहीं दिया है. इससे पहले भी वो कई बार इस्तीफे के लिए समय की मांग कर चुके हैं. खबरों की मानें तो इस बार भी उन्हें अतिरिक्त समय देने से इनकार कर दिया गया है. लोकसभा कार्यालय के सूत्रों का कहना है कि जब से उन्होंने इस्तीफे की घोषणा की है उन्हें कभी भी लोकसभा अध्यक्ष कार्यालय नहीं बुलाया गया.
    फुटबॉलर का दिया उदाहरण
    बता दें कि पश्चिम बंगाल के आसनसोल से सांसद बाबुल सुप्रियो ने इस्तीफा देने के बाद कहा कि उन्होंने अपनी खुशी से पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया. उन्होंने कहा कि वो बेहद उदास मन से टीएमसी में गए हैं. उन्होंने फुटबॉलर मेसी का उदाहरण देते हुए कहा कि मेसी बार्सिलोना नहीं छोड़ना चाहते थे, लेकिन वो उदास मन से चले गए.

    Tags: Babul supriyo, Bengal BJP, Om Birla

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें