लाइव टीवी

श्रीनगर में रहने वाले किरायेदारों और नौकरों के बैकग्राउंड की होगी जांच

News18Hindi
Updated: November 27, 2019, 5:12 PM IST
श्रीनगर में रहने वाले किरायेदारों और नौकरों के बैकग्राउंड की होगी जांच
सरकार ने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटा लिया था.

केंद्र सरकार ने इसी साल ने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा लिया था. इसके बाद से ही वहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रह हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2019, 5:12 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. श्रीनगर (Srinagr) में अधिकारियों ने पुलिस से कहा है कि आपराधिक गतिविधियों और आतंकी हमलों को रोकने के लिए किरायेदारों और घरेलू सहायकों की पृष्ठभूमि की जाँच करनी होगी. श्रीनगर जिलाधिकारी ने हाल ही में जारी किये गए एक आदेश में पुलिस को किरायेदारों और घरेलू सहायकों की पृष्ठभूमि की जाँच कर रिपोर्ट तैयार करने को कहा है. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि राष्ट्रविरोधी, असामाजिक और आपराधिक तत्वों के किरायेदार एवं घरेलू सहायक के रूप में पनाह ले सकने की आशंका है. थाना प्रभारियों को आदेश दिया गया है कि कि वे शहर के सभी पुलिस थानों में किरायेदारों और घरेलू सहायकों का अलग रजिस्टर बनाएं.

आतंकी हमले को रोकने के मकसद से दिया गया आदेश
अधिकारियों ने कहा, 'यह आदेश श्रीनगर शहर में राष्ट्र विरोधी, असामाजिक और आपराधिक तत्वों द्वारा किसी भी प्रकार के आतंकी हमले को रोकने के मकसद से दिया गया है.' वहीं केन्द्र सरकार ने कहा है कि जम्मू कश्मीर (Jammu kashmir) से अगस्त में अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाये जाने के बाद संघ शासित क्षेत्र जम्मू कश्मीर के व्यय में कोई इजाफा नहीं हुआ है.

गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी (Minister of State for Home Affairs Kishan Reddy) ने राज्यसभा (Rajya Sabha) को बुधवार को एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 (Jammu Kashmir Reorganization Act 2019) के तहत जम्मू कश्मीर और लद्दाख को दो अलग संघ शासित क्षेत्र बनाया गया था.

उन्होंने कहा कि दोनों क्षेत्रों के लिये कोई पृथक वित्तीय प्रावधान नहीं किये गये हैं. इस कारण जम्मू कश्मीर के व्यय में कोई इजाफा नहीं हुआ है. गौरतलब है कि पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 हटने के बाद 31 अक्टूबर से जम्मू कश्मीर और लद्दाख, संघ शासित क्षेत्र के रूप में अस्तित्व में आये हैं.

यह भी पढ़ें:  अयोध्‍या पर PM ने कहा- वोट बैंक के लिए इस संवेदनशील मुद्दे से खेलते रहे कुछ दल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 5:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...