Assembly Banner 2021

केरल: UPA के तहत गिरफ्तार किए गए दो छात्रों की जमानत याचिका खारिज

UPA के तहत गिरफ्तार किए गए दो छात्रों की जमानत याचिका खारिज

UPA के तहत गिरफ्तार किए गए दो छात्रों की जमानत याचिका खारिज

छात्रों के वकील ने बताया कि कोर्ट (Court) ने जमानत याचिकाएं खारिज कर दी है. हालांकि, जमानत याचिका खारिज करने के कारण का पता चल पाएगा.

  • Share this:
कोझिकोड. अदालत (Court) ने केरल (Kerala) के गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत गिरफ्तार किए गए दो माकपा (सीपीआई-एम) छात्र कार्यकर्ताओं की जमानत याचिका (Plea) बुधवार को खारिज कर दी.

गौरतलब है कि दो नवंबर को माकपा के छात्र कार्यकर्ता ताहा फजल और अलान सुहैब को कथित रूप से माओवादियों से सहानुभूति रखने और उनके कुछ पर्चे तथा सामग्री वितरित करने के आरोप में तहत गिरफ्तार किया गया था. उनकी गिरफ्तारी गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत हुई थी. छात्रों की आयु लगभग 20 वर्ष है.

आरोपियों के वकील कर सकते हैं मुलाकात
छात्रों के वकील ने पत्रकारों को बताया कि कोर्ट ने जमानत याचिकाएं खारिज कर दी है. उन्होंने बताया कि आदेश की प्रति मिलने के बाद ही जमानत याचिका खारिज करने के कारण का पता चल पाएगा. अदालत ने हालांकि वकीलों को आरोपियों से शाम में एक घंटा मिलने की अनुमति दे दी है.
15 नवंबर तक भेजा हिरासत में


याचिकाकर्ता अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द करने और जमानत की मांग को लेकर हाईकोर्ट का रुख कर सकते हैं. अभी दोनों आरोपी 15 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में हैं. ताहा फजल के भाई और उसकी एक रिश्तेदार ने कहा कि उन्हें कानून पर विश्वास है और पुलिस ने ‘झूठे सबूत’ पेश किए हैं.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज