Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    कोविड-19 मामलों में उछाल के बाद केरल में बड़ी सभाओं पर प्रतिबंध, 14.35% हुआ पॉजिटिविटी रेट

    मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत पांच से अधिक लोगों की सभा की अनुमति नहीं दी जाएगी. (File Photo)
    मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत पांच से अधिक लोगों की सभा की अनुमति नहीं दी जाएगी. (File Photo)

    मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन (Chief Minister Pinarayi Vijayan) ने अपने फेसबुक पोस्ट (Facebook Post) में कहा, “हमारे पास नियंत्रण उपायों में कड़ाई लाने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है. स्थिति वास्तव में गंभीर है. यह लगातार महीनों के लिए नियंत्रण में था, लेकिन हमारी हालिया शिथिलता के चलते एक बड़ा उछाल आ गया.”

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 4, 2020, 11:29 AM IST
    • Share this:
    तिरुवनंतपुरम. राज्य सरकार (State government) के मुख्य सचिव (Chief Secretary) विश्वास मेहता की ओर से जारी एक आदेश (Order) में कहा गया है कि केरल सरकार (Kerala Government) ने शनिवार को कोरोना वायरस के मामलों (Coronavirus Cases) में तेजी से बढ़ोतरी के बाद एक महीने के लिए पूरे राज्य में बड़े समारोहों  पर प्रतिबंध लगा दिया है. यह प्रतिबंध 31 अक्टूबर तक लागू रहेगा.

    मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन (Chief Minister Pinarayi Vijayan) ने अपने फेसबुक पोस्ट (Facebook Post) में कहा, “हमारे पास नियंत्रण उपायों में कड़ाई लाने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है. स्थिति वास्तव में गंभीर है. यह लगातार महीनों के लिए नियंत्रण में था, लेकिन हमारी हालिया शिथिलता के चलते एक बड़ा उछाल आ गया.” मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम (disaster management act) के तहत पांच से अधिक लोगों की सभा की अनुमति नहीं दी जाएगी.

    सक्रिय मामलों के संबंध में, केरल महाराष्ट्र और कर्नाटक के बाद तीसरे स्थान पर बना हुआ है
    बड़ी भीड़ पर प्रतिबंध के अलावा, कंटेनमेंट क्षेत्रों में प्रतिबंधात्मक आदेश लागू होंगे. मामलों के कई गुना बढ़ने और रिकवरी रेट में गिरावट आने के बाद सरकार को कड़े कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ा. सक्रिय मामलों के संबंध में, राज्य महाराष्ट्र और कर्नाटक के बाद तीसरे स्थान पर बना हुआ है. संक्रमण के मामले तब भी बढ़े जब अन्य राज्यों में गिरावट देखी गई. विशेषज्ञों ने अक्टूबर के दूसरे सप्ताह तक मामलों के चरम पर पहुंचाने की बात कही है.




    केरल में मृत्युदर अब भी मात्र 0.44%
    केरल की टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 14.35% रहा, जबकि राष्ट्रीय औसत 8% है. राज्य का रिकवरी रेट 63.39% है, लेकिन राष्ट्रीय औसत 83.01% है. हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि मृत्यु दर, पड़ोसी राज्यों की तुलना में वास्तव में बहुत कम (0.44%) है.

    यह भी पढ़ें: भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1 लाख के पार, 5 राज्यों ने बढ़ाई टेंशन

    शनिवार को राज्य में कोविड-19 के 7,834 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में अब तक आए कुल मामलों की संख्या 2,21,333 पर पहुंच गई. कोविड-19 के रिकवरी के मामले 1,39, 620 हैं जबकि सक्रिय मामले 80,818 हो चुके हैं. 22 नई मौतों के साथ, कुल मौतों का आंकड़ा 814 पहुंच गया है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज