विपक्ष के हमले के बीच सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट की फोटो और वीडियो रिकॉर्डिंग पर लगी रोक

 सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में काम नवंबर 2021 तक पूरा होना है.  (फाइल फोटो)

सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में काम नवंबर 2021 तक पूरा होना है. (फाइल फोटो)

केंद्र ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) को बताया कि 19.04.2021 के डीडीएमए आदेश के अनुसार, कर्फ्यू के दौरान उन निर्माण कार्यों की अनुमति है जहां मजदूर निर्माण स्थल पर ही रहते हैं. सेंट्रल विस्टा (Central Vista) एवेन्यू में काम नवंबर 2021 तक पूरा होना है.

  • Share this:

नई दिल्ली. सेंट्रल विस्‍टा (Central Vista) पुनर्निर्माण परियोजना को लेकर विपक्ष के हमलों के बीच केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (CPWD) ने इंडिया गेट के पास निर्माण स्थल पर फोटोग्राफी (Photography) और वीडियो रिकॉर्डिंग (Video Recording) पर प्रतिबंध लगा दिया है. सेंट्रल विस्टा एवेन्यू के पुनर्निर्माण स्थल पर इस रोक से जुड़े साइन बोर्ड लगाए गए हैं, जिसमें लिखा है: 'फोटोग्राफी निषेध', 'वीडियो रिकॉर्डिंग निषेध.'

बता दें कि केंद्र सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट से सेंट्रल विस्टा के निर्माण कार्य पर रोक लगाने की मांग करने वाली याचिका को खारिज करने की मांग की है. सुनवाई के दौरान केंद्र ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत चल रहे काम का बचाव किया और कहा कि परियोजना के निर्माण को रोकने की मांग करने वाली याचिका कानून की प्रक्रिया का सरासर दुरुपयोग है और परियोजना को रोकने के लिए एक और प्रयास है. केंद्र ने दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि 19.04.2021 के डीडीएमए आदेश के अनुसार, कर्फ्यू के दौरान उन निर्माण कार्यों की अनुमति है जहां मजदूर निर्माण स्थल पर ही रहते हैं. सरकार ने इस दावे का भी खंडन किया कि सराय काले खा कैंप से श्रमिकों को रोज लाया जाता है. सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में काम नवंबर 2021 तक पूरा होना है.


बता दें कि 65 संगठनों द्वारा जारी बयान में केंद्र सरकार से 13,450 करोड़ रुपये की इस परियोजना को रोकने और सभी उपलब्ध संसाधनों का इस्तेमाल महामारी से निपटने में करने का आग्रह किया गया है. यही नहीं बुधवार को देश के कई नागरिक समाज समूहों और पर्यावरण संगठनों ने केंद्र सरकर से कोरोना को देखते हुए सरकार की महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा पुनर्निर्माण परियोजना को रोक लगाने की अपील की है.
इसे भी पढ़ें :- सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट: राहुल गांधी का सरकार पर निशाना- देश को PM आवास नहीं, सांस चाहिए!

क्या है सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत नया संसद भवन, प्रधानमंत्री और उप राष्ट्रपति के घर के अलावा कई सरकारी बिल्डिंग राजपथ और इंडिया गेट के आस पास बन रहे है. इस जनहित याचिका में मांग की गई है की सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के काम पर फिलहाल रोक लगा दी जाए क्योंकि वहां काम कर रहे मजदूर कोरोना की चपेट में आ सकते हैं. अब सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट से इस मामले को जल्द सुनने का आग्रह किया है.



इसे भी पढ़ें :- सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर रोक की मांग तेज, सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाई कोर्ट में भेजा मामला

विपक्षी दल कर रहे हैं विरोध

कोविड-19 महामारी के इस बुरे दौर के बीच सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर विपक्षी दल हमलावर बने हुए हैं. भाषा के अनुसार, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन, कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जैसे नेता सरकार पर निशाना साध चुके हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज