Home /News /nation /

त्रिपुरा: बांग्‍लादेश हिंसा के विरोध में मस्जिदों पर हमला, जमीयत ने पुलिस और सीएम से की शिकायत

त्रिपुरा: बांग्‍लादेश हिंसा के विरोध में मस्जिदों पर हमला, जमीयत ने पुलिस और सीएम से की शिकायत

त्रिपुरा पुलिस कर रही है मामले की जांच. (File pic)

त्रिपुरा पुलिस कर रही है मामले की जांच. (File pic)

Tripura: इस पूरे मामले में त्रिपुरा पुलिस (Tripura Police) के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि कुछ छिटपुट घटानाएं हुई थीं, लेकिन कानून-व्यवस्था की कोई बड़ी घटना नहीं हुई थी. अगरतला के पास एक मस्जिद में तोड़फोड़ की पुष्टि करते हुए उन्‍होंने कहा, 'हम लगभग 150 मस्जिदों को सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं.'

अधिक पढ़ें ...

    अगरतला. बांग्लादेश (Bangladesh) में पिछले दिनों दुर्गा पूजा पंडालों में हुई तोड़फोड़ के खिलाफ त्रिपुरा (Tripura) में हिंदू संगठनों की कई रैलियों के बीच त्रिपुरा राज्य जमीयत उलमा (हिंद) ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के ऑफिस को एक ज्ञापन सौंपा है. इसमें पिछले तीन दिनों में मस्जिदों और अल्पसंख्यक बस्तियों पर हमले का आरोप लगाया गया है.

    वहीं इस पूरे मामले में त्रिपुरा पुलिस (Tripura Police) के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि कुछ छिटपुट घटानाएं हुई थीं, लेकिन कानून-व्यवस्था की कोई बड़ी घटना नहीं हुई थी. अगरतला के पास एक मस्जिद में तोड़फोड़ की पुष्टि करते हुए उन्‍होंने कहा, ‘हम लगभग 150 मस्जिदों को सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि वे घटनाओं की जांच कर रहे हैं और सीसीटीवी फुटेज को भी जांचा जा रहा है.

    उनाकोटी के एसपी रति रंजन देबनाथ ने कहा कि वे उत्तरी त्रिपुरा जिले में एक मूर्ति के संबंध में एक घटना की जांच कर रहे थे. उन्‍होंने बताया कि यह मूर्ति उनाकोटी में एक पहाड़ी के ऊपर एक सुनसान जगह पर स्थित थी. एसपी देबनाथ ने कहा, ‘पिछले कुछ दिनों में भारी बारिश हुई थी, यह कल्पना करना मुश्किल है कि कोई भी 45 मिनट से अधिक घने जंगलों के बीच चलकर ऐसा कुछ कर सकता है. यहां कोई सांप्रदायिक तनाव नहीं है.’

    त्रिपुरा जमीयत के अध्यक्ष मुफ्ती तैयब रहमान ने डीजीपी वीएस यादव के ऑफिस के साथ ही मुख्‍यमंत्री को दिए अपने ज्ञापन में कहा कि लोगों का एक वर्ग राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की कोशिश कर रहा है. शुक्रवार शाम मीडिया से बात करते हुए रहमान ने कहा था, ‘त्रिपुरा के हिंदू या मुस्लिम समुदायों में से किसी ने भी बांग्लादेश की घटनाओं का समर्थन नहीं किया. हमने बांग्लादेश वीजा ऑफिस में भी इसका विरोध किया है.’

    वहीं बीजेपी प्रवक्ता नबेंदु भट्टाचार्य ने इस मामले में कहा कि पार्टी ऐसी किसी भी घटना के खिलाफ है और इसके अल्पसंख्यक मोर्चा के नेताओं ने शांति सुनिश्चित करने के लिए राज्य में सभी लोगों तक पहुंच बनाई है. बता दें कि 21 अक्टूबर को बांग्लादेश हिंसा के खिलाफ गोमती जिले के उदयपुर में एक रैली के दौरान धारा 144 प्रतिबंधों की अनदेखी करते हुए विश्‍व हिंदू परिषद और हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ झड़प में तीन पुलिसकर्मियों सहित 15 से अधिक लोग घायल हो गए थे.

    आयोजकों ने दावा किया था कि उनके पास रैली की अनुमति थी, लेकिन जब उन्होंने कुछ अल्पसंख्यक बहुल इलाकों के पास के इलाकों में जाने की कोशिश की, तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया था.

    Tags: Bangladesh, Tripura

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर