लाइव टीवी
Elec-widget

हैदराबाद गैंगरेप मर्डर: आरोपियों की पैरवी नहीं करेगा बार काउंसिल

भाषा
Updated: December 1, 2019, 4:21 PM IST
हैदराबाद गैंगरेप मर्डर: आरोपियों की पैरवी नहीं करेगा बार काउंसिल
रंगा रेड्डी बार एसोसिएशन नहीं करेगा मामले की पैरवी

हैदराबाद में महिला डॉक्‍टर के साथ गैंगरेप और हत्‍या के मामले (Hyderabad Doctor Gangrape and Murder Case) में वहां के एक बार एसोसिएशन ने फैसला लिया है कि वे आरोपियों की पैरवी नहीं करेंगे.

  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) में एक जिला बार काउंसिल ने यहां महिला पशु चिकित्सक के गैंगरेप और हत्या मामले में चारों आरोपियों की पैरवी न करने का रविवार को फैसला लिया. रंगा रेड्डी बार एसोसिएशन (Bar Association Ranga Reddy District Court) के अध्यक्ष मट्टापल्ली श्रीनिवास ने कहा कि उन्होंने आरोपियों द्वारा किए जघन्य अपराध के खिलाफ नैतिक और सामाजिक जिम्मेदारी के तहत यह फैसला लिया है.

उन्होंने कहा, 'हमने आरोपियों को कोई कानूनी सेवा न देने का फैसला लिया है. ऐसे मामलों में अदालत जिला विधि सेवा प्राधिकरण को उनके लिए वकील नियुक्त करने का निर्देश दे सकती है. जब प्राधिकरण किसी वकील को आरोपियों का प्रतिनिधित्व करने का निर्देश देगी तो हम इससे इनकार नहीं कर सकते.

'आरोपियों को हो सकती है मौत की सजा'
श्रीनिवास ने कहा कि पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ जो मामला दर्ज किया है, उसकी कुछ धाराओं के तहत मौत की सजा हो सकती है. चारों आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 376डी (सामूहिक दुष्कर्म), 302 (हत्या) और 201 (सबूत नष्ट करना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

श्रीनिवास ने कहा कि संघ ने यह भी मांग की कि सरकार तुरंत न्याय के लिए मुकदमे की सुनवायी तेज करने के लिए अलग से विशेष अदालत बनाए. वे अमानवीय हमले की निंदा करने के लिए अदालत के मुख्य प्रवेश द्वार पर दो दिसंबर को प्रदर्शन करेंगे.

एक सरकारी अस्पताल में सहायक पशु चिकित्सक महिला का झुलसा शव उसके लापता होने के एक दिन बाद गुरुवार की सुबह शादनगर इलाके में पाया गया था. उसकी हत्या किए जाने से पहले उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था. चारों आरोपियों को 29 नवंबर को गिरफ्तार कर लिया गया था.

ये भी पढ़ें : हैदराबाद रेप: इन 7 कड़ियों को जोड़-जोड़कर आरोपियों तक पहुंच गई पुलिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 3:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com