लाइव टीवी

बार काउंसिल ने दिल्ली पुलिस के प्रदर्शन को राजनीति से प्रेरित बताया, कहा-हम एकजुट हैं

News18Hindi
Updated: November 6, 2019, 3:20 PM IST
बार काउंसिल ने दिल्ली पुलिस के प्रदर्शन को राजनीति से प्रेरित बताया, कहा-हम एकजुट हैं
तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हुई झड़प का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के प्रदर्शन के बाद बार काउंसिल ऑफ इंडिया (Bar Council of India) ने इसे स्वतंत्र भारत (India) के इतिहास का सबसे काला दिन करार दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2019, 3:20 PM IST
  • Share this:
तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) में वकीलों (Advocate) और पुलिस (Delhi Police) के बीच हुई झड़प का मामला ठंडा होने का नाम नहीं ले रहा है. मंगलवार को दिल्ली पुलिस के प्रदर्शन के बाद बार काउंसिल ऑफ इंडिया (Bar Council of India) ने इसे स्वतंत्र भारत (India) के इतिहास का सबसे काला दिन करार दिया है. बार काउंसिल की ओर से बयान जारी करते हुए कहा गया कि हमने मीडिया रिपोर्ट (Media Report) में देखा है किस तरह से दिल्ली पुलिस ने भीड़ को अनियंत्रित करने के लिए बल का प्रयोग किया. इस दौरान कई पुलिसकर्मियों को गाली देते हुए भी सुना गया. निश्चित रूप से यह एक राजनीतिक रूप से प्रेरित कदर लग रहा है. दिल्ली पुलिस का रवैया दुखी करने वाला है.

बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने साफ कर दिया है कि हमारी मांग है कि दोषी पुलिस अधिकारियों को 1 सप्ताह के अंदर गिरफ्तार किया जाए. उन्होंने कहा कि हम दोषियों की गिरफ्तारी और उनके खिलाफ उचित अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए शांतिपूर्ण धरना देंगे.



बार काउंसिल ने कहा हम एकजुट हैं. बता दें कि दिल्ली के सभी कोर्ट परिसरों के बाहर आज वकील दिल्ली पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर वकील पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं. रोहिणी कोर्ट के बाहर भी वकीलों का धरना जारी है. वहीं साकेत कोर्ट के बाहर कवरेज करने गये पत्रकारों के साथ धरना दे रहे कुछ वकीलों ने बदसलूकी की है.
Loading...

Tis Hazari Court, Advocate, Delhi Police, Bar Council of India, India, Media Report
कोर्ट परिसरों के बाहर आज वकील दिल्ली पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.


कोर्ट के गेट बंद करने से जनता और वकीलों में टकराव जैसे हालात
कोर्ट परिसर में धरना दे रहे वकीलों ने साकेत कोर्ट का गेट बंद कर दिया है. इसके चलते लोग कोर्ट परिसर में नहीं पहुंच पा रहे हैं. ऐसे में पेशी में पहुंचे लोगों ने वकीलों का विरोध किया है. इससे जनता और वकीलों के बीच टकराव जैसे हालात बन गये हैं. पेशी पर आये लोगों का कहना है कि आज उनके केस की अहम सुनवाई थी, जो वकीलों के धरने के कारण नहीं हो पा रही है. ऊपर से वकील उनको कोर्ट परिसर में नहीं जाने दे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :- दिल्ली पुलिस के समर्थन में उतरीं किरण बेदी, कमिश्नर अमूल्य पटनायक को दी ये सीख

गृह मंत्रालय ने मामले की रिपोर्ट मांगी थी
तीस हजारी कोर्ट में वकीलों के साथ हुई झड़प को लेकर दिल्ली पुलिस का ये धरना बीते दस घंटों से जारी था. इस पर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने भी धरना खत्म करने के साथ ही दोनों पक्षों से शांत रहने की अपील की थी. मामले में गृह मंत्रालय ने दिल्ली हाईकोर्ट से स्पष्टीकरण मांगा है. मंत्रालय ने हाईकोर्ट से 'वकीलों पर कार्रवाई न करने' के आदेश पर सफाई देने के लिए कहा है.

इसे भी पढ़ें :- वकील VS दिल्ली पुलिस LIVE: पुलिस मुख्यालय के बाहर CRPF को किया तैनात, वकीलों का हंगामा जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 3:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...