बर्ड फ्लू: केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से गंभीर स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा

राज्यों को अकस्मात स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा गया. (फोटो: AFP)

राज्यों को अकस्मात स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा गया. (फोटो: AFP)

राज्यों से पीपीई किट (PPE Kit) और अन्य आवश्यक उपकरणों का पर्याप्त भंडार सुनिश्चित करने को कहा गया है. उन्हें जनता के बीच यह जागरूकता (Awareness) फैलाने को भी कहा गया है कि उबालने या पकाने के बाद ही ‘पॉल्ट्री’ उत्पादों (Poultry Products) का सेवन करना सुरक्षित है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 6:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) ने बृहस्पतिवार को कहा कि अभी तक केवल केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में बर्ड फ्लू (Bird Flu) की पुष्टि हुई है, लेकिन सभी राज्यों को किसी भी अकस्मात स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए. राज्यों से पीपीई किट और अन्य आवश्यक उपकरणों का पर्याप्त भंडार सुनिश्चित करने को कहा गया है. उन्हें जनता के बीच यह जागरूकता फैलाने को भी कहा गया है कि उबालने या पकाने के बाद ही ‘पॉल्ट्री’ उत्पादों का सेवन करना सुरक्षित है.

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि पशुपालन और डेयरी विभाग के सचिव ने एवियन इन्फ्लूएंजा (बर्ड फ्लू) के प्रकोप की स्थिति को समझने और इस रोग के प्रसार को नियंत्रित करने तथा इसकी रोकथाम के उपाय सुझाने के लिए के लिए राज्यों के साथ बैठक की. केरल, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश से मुर्गी, कौआ और प्रवासी पक्षियों की असामान्य मौत होने की सूचना मिली है.

Youtube Video


केवल चार राज्यों से की गई है पुष्टि
बयान में कहा गया है, 'अब तक इस बीमारी की पुष्टि केवल चार राज्यों (केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश) में की गई है. केरल के प्रभावित जिलों में संकमित पक्षियों को मारा जा रहा है.' बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि जल स्रोतों, जीवित पक्षी के बाजारों, चिड़ियाघर, पॉल्ट्री फार्म आदि के आसपास निगरानी बढ़ाने के अलावा पक्षियों के शवों का उचित निपटारा और पॉल्ट्री फार्मों में जैव सुरक्षा को मजबूत करना सुनिश्चित किया जाना चाहिए.

प्रभावित राज्यों का दौरा करने के लिए दो केंद्रीय टीमों को तैनात किया गया

बयान में कहा गया, 'राज्यों से एवियन इन्फ्लूएंजा से जुड़ी किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने और पीपीई किट तथा अन्य सहायक उपकरणों के पर्याप्त भंडार सुनिश्चित करने का अनुरोध किया गया है.' इस बीच, निगरानी और बीमारी की जांच के लिए प्रभावित राज्यों-केरल, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश का दौरा करने के लिए दो केंद्रीय टीमों को तैनात किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज