लाइव टीवी

गणतंत्र दिवस 2020: अटारी-वाघा बॉर्डर पर गूंजे वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे

News18Hindi
Updated: January 26, 2020, 10:25 PM IST
गणतंत्र दिवस 2020: अटारी-वाघा बॉर्डर पर गूंजे वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे
अटारी-वाघा बॉर्डर पर गूंजे वंदेमातरम् और भारत माता की जय के नारे

अटारी-वाघा बॉर्डर पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी (Beating Retreat Ceremony) देखने पहुंचे लोग अपने हाथों में तिरंगा लहराते हुए हिंदुस्तान जिंदाबाद और वंदे मातरम के नारे लगाते नजर आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2020, 10:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में आज 71वां गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) मनाया जा रहा है. इसी कड़ी में अटारी-वाघा बॉर्डर पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी (Beating Retreat Ceremony) का आयोजन किया गया. इस दौरान भारी तादाद में लोग रिट्रीट सेरेमनी देखने पहुंचे और भारतीय सीमा पर भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाए.

गणतंत्र दिवस के अवसर पर पंजाब स्थित सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की ओर से खास परेड का आयोजन किया गया. इस दौरान देश के कोने-कोने से बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी देखने पहुंचे लोग अपने हाथों में तिरंगा लहराते हुए हिंदुस्तान जिंदाबाद और वंदेमातरम् के नारे लगाते नजर आए. दर्शकों का जोश देखते हुए जवानों का भी उत्साह दोगुना हो गया. जवानों ने अपने कदमताल से पाकिस्तानी जवानों को ललकारा.



देशभक्ति गीतों पर नाचते दिखे दर्शकगणतंत्र दिवस के जश्न के दौरान तमाम कलाकारों ने देशभक्ति गीतों पर नृत्य कर भारतीय संस्कृति की झलक पेश की. इस दौरान दर्शक दीर्घा में बैठे तमाम दर्शक जवानों के साथ झूमते नजर आए. इसके अलावा BSF की महिला जवानों ने सीमा पर अपना दमखम दिखाया.

जवानों के साथ खिंचाई सेल्फी
सीमा पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी आयोजन के दौरान लोग जवानों के साथ सेल्फी लेते भी नजर आए. समारोह के दौरान देशभक्ति गीतों के बीच हजारों दर्शक भारत माता की जय, वंदेमातरम्, इंकलाब जिंदाबाद नारे लगाते रहे.

DRDO की ए-सैट हथियार परेड में हुई शामिल
बता दें, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित राजपथ पर देश की सामरिक और सांस्कृतिक ताकत का एहसास देश के हर नागरिक को हुआ. गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) पर राजपथ पर कई ऐसी चीजें दिखीं, जो भारत की जनता के लिए अनोखी थीं. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की उपग्रह रोधी (ए-सैट) हथियार प्रणाली रविवार को गणतंत्र दिवस की परेड का हिस्सा बनी. किसी भी देश की आर्थिक और सैन्य सर्वोच्चता के लिए अंतरिक्ष महत्वपूर्ण आयाम है और इसमें ए-सैट हथियार आवश्यक रणनीतिक प्रतिरोध प्रणाली में अहम भूमिका निभाता है.

झाकियों ने किया आकर्षित
राजपथ पर राष्ट्र की बहुमूल्य सांस्कृतिक धरोहर और आर्थिक प्रगति को दर्शाने वाली 22 झांकियों में से 16 झांकियां राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की होंगी और छह विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की थीं. इन्होंने सभी को आकर्षित किया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 6:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर