vidhan sabha election 2017

19 साल से पहले ही 20 फीसदी लड़कियों की हो जाती है शादी

भाषा
Updated: October 12, 2017, 10:32 PM IST
19 साल से पहले ही 20 फीसदी लड़कियों की हो जाती है शादी
फाइल फोटो- सुप्रीम कोर्ट.
भाषा
Updated: October 12, 2017, 10:32 PM IST
देश में 2.3 करोड़ बच्चियों के विवाहित होने के आंकड़े पर चिंता व्यक्त करते हुए उच्चतम न्यायालय ने कहा कि प्रत्येक पांच शादियों में से एक से ज्यादा मामले में बाल विवाह को प्रतिबंधित करने वाले कानूनों का उल्लंघन होता है. नाबालिग पत्नी के साथ शारीरिक संबंध बनाने को अपराध करार देने संबंधी ऐतिहासिक फैसला सुनाने वाली न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने 2011 की जनगणना के आधार पर बाल विवाह को लेकर हुए एक अध्ययन का जिक्र किया.

पीठ ने कहा, ‘‘पता चला कि 10 से 14 साल की आयु की तीन प्रतिशत लड़कियों की शादी कर दी जाती है और 19 साल की उम्र होने से पहले करीब 20 प्रतिशत लड़कियां विवाह बंधन में बंध जाती हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह रिपोर्ट 19 साल से कम उम्र की लड़कियों के संबंध में जानकारी देती है, 18 साल से कम की नहीं, लेकिन रिपोर्ट इशारा करती है कि इस देश में 20 प्रतिशत से ज्यादा लड़कियां 18 साल की उम्र पूरी होने से पहले विवाह बंधन में बंध जाती है. इसलिए प्रत्येक पांच विवाहों में से एक से ज्यादा में बाल विवाह निषेध कानून और हिंदू मैरिज एक्ट के प्रावधानों का उल्लंघन किया जाता है.’’

ये भी पढ़ेंः

18 से कम उम्र की पत्नी से शारीरिक संबंध बलात्कारः सुप्रीम कोर्ट

नेपाली दंपती को पहले ट्रांसजेंडर विवाह के रूप में मिली स्वीकृति
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर