अपना शहर चुनें

States

कोरोना: देशव्यापी दूसरे ड्राई रन से पहले दिल्ली पहुंची कोविशील्ड की पहली खेप

कोविशील्ड को इमरजेंसी यूज की अनुमति दी जा चुकी है.(फाइल फोटो)
कोविशील्ड को इमरजेंसी यूज की अनुमति दी जा चुकी है.(फाइल फोटो)

कोविशील्ड (Covishield) को भारत में सशर्त इमरजेंसी यूज की अनुमति दी जा चुकी है. इसके अलावा भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) को भी इमरजेंसी यूज की अनुमति दी गई है. ये वैक्सीन भारत-बायोटेक ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के साथ मिलकर तैयार की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 6:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में कोरोना वैक्सिनेशन (Covid-19 Vaccination) की तैयारियों के बीच शुक्रवार को देशभर में दूसरा ड्राई रन (Dry run) किया जाना है. इस बीच खबर आ रही है कि सीरम इंस्टिट्यूट (Serum Institute) की वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) की पहली खेप राजधानी दिल्ली पहुंच चुकी है. गौरतलब है कि कोविशील्ड को भारत में सशर्त इमरजेंसी यूज की अनुमति दी जा चुकी है. इसके अलावा भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को भी इमरजेंसी यूज की अनुमति दी गई है. ये वैक्सीन भारत-बायोटेक ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के साथ मिलकर तैयार की है.

अधिकारियों के मुताबिक फ्लाइट नंबर AI-850 में पुणे से दिल्ली कोविशील्ड की पहली खेप पहुंची. ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रेजेनेका द्वारा तैयार की गई ये वैक्सीन भारत में सीरम इंस्टिट्यूट द्वारा बनाई जा रही है. इसे 2  से 8 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर स्टोर करके रखना है. इसे सामान्य फ्रीजर में भी रखा जा सकता है. भारत जैसे देश के लिए इसे बहुत बड़ी खासियत और राहत माना जा रहा है.

पहले चरण में फ्रंटलाइन वर्कस पर होगी सरकार की प्राथमिकता
नेशनल कोविड टास्क फोर्स के हेड डॉ. विनोद पॉल ने कुछ दिनों पहले न्यूज़18 से बातचीत में बताया था कि कोविड टीकाकरण के लिए सरकार, इंडस्ट्री और अन्य स्टेकहोल्डर्स एक साथ मिलकर टीम की तरह काम रहे हैं. उन्होंने बताया था कि पहले फेज में देश के तीस करोड़ लोगों का टीकाकरण किया जाना है. इन्हें प्राथमिकता के आधार पर चुना गया है.




वैक्सीन की आवाजाही का केंद्र पुणे होगा
सरकारी सूत्रों ने बताया 'पूरे देश में वैक्सीन ट्रांसपोर्ट के लिए एक कॉमन ड्राफ्ट तैयार कर लिया गया है. इस ड्राफ्ट को जल्द ही स्टॉकहोल्डर्स के साथ शेयर किया जाएगा.' सूत्रों ने जानकारी दी कि ट्रांसपोर्टेशन आज या कल से शुरू हो जाएगा. सूत्रों ने संकेत दिए हैं कि वैक्सीन की आवाजाही का केंद्र पुणे होगा. वहीं, पैसेंजर हवाई जहाजों का इस्तेमाल भी वैक्सीन की आवाजाही में किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज