Home /News /nation /

फिर 'दिल्ली मिशन' पर ममता बनर्जी, क्या राहुल की जगह दीदी बन रहीं विपक्ष का चेहरा?

फिर 'दिल्ली मिशन' पर ममता बनर्जी, क्या राहुल की जगह दीदी बन रहीं विपक्ष का चेहरा?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फ़ाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फ़ाइल फोटो)

Mamta Banerjee In Delhi: इससे पहले मई में जीत दर्ज करने बाद ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) जून में दिल्ली पहुंची थीं. उस वक्त उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कमलनाथ और आनंद शर्मा जैसे वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की थी. माना जा रहा है कि संसद के मानसून सत्र शुरू होने से पहले बनर्जी दिल्ली पहुंच कर विपक्ष से मुलाकात कर सरकार को संसद में घेरने की रणनीत बना सकती हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Bengal CM Mamta Banerjee) आज से दिल्ली के दौरे पर आ रही हैं. वो 22 से 25 नवंबर तक दिल्ली में रहेंगी. माना जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session)से पहले वो विपक्षी दलों को एक साथ लाने की कवायद करेंगी. कहा जा रहा है कि राहुल गांधी के बाद अब लोग ममता बनर्जी को विपक्ष का चेहरा मान रहे हैं. वो लगातार विपक्ष को एक मंच पर लाने की कोशिश कर रही हैं. इस साल मुख्यमंत्री बनने के बाद ममता का ये दूसरा दिल्ली का दौरा है.

    तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात कर सकती हैं. इसके अलावा बंगाल के ममालों को लेकर वो कई केंद्रीय मंत्रियों से भी चर्चा कर सकती हैं. कहा जा रहा है कि ममता बनर्जी तीनों नए कृषि कानूनों पर मोदी सरकार के पीछे हटने के बाद विपक्ष की भूमिका तय करने के लिए दूसरे दलों से चर्चा कर सकती हैं. पिछले दिनों ममता ने किसानों को तीन कृषि कानूनों के खिलाफ संघर्ष करने के लिए बधाई दी थी और कहा था कि भारतीय जनता पार्टी ने जिस ‘क्रूरता’ से व्यवहार किया, उससे वे विचलित नहीं हुए.

    मोदी से मुलाकात
    समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक ममता पीएम मोदी से मुलाकात कर सकती हैं. कहा जा रहा है कि इस मुलाकात में वो राज्य के बकाये और बीएसएफ का बढ़ाए गए अधिकार क्षेत्र जैसे मुद्दों पर चर्चा करेंगी. सूत्रों का कहना है कि बनर्जी इस दौरान अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ भी बैठक कर सकती हैं. मोदी के साथ उनकी प्रस्तावित बैठक के एजेंडा के बारे में पूछे जाने पर सूत्र ने कहा, मुख्यमंत्री राज्य के बकाए चुकाने के लंबे समय से चली आ रही मांग को उठाएंगी. वो सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकार क्षेत्र को अंतरराष्ट्रीय सीमा से 15 किलोमीटर से 50 किलोमीटर तक बढ़ाए जाने के केंद्र के फैसले पर अपनी आपत्ति भी दर्ज कराएंगी.’ बता दें कि तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने इससे पहले कहा था कि केंद्र का कदम केवल आम लोगों को प्रताड़ित करने वाला है और प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर मुद्दे पर आपत्तियां भी उठाई थी.

    वरुण गांधी से मुलाकात
    इन दिनों मीडिया में इस बात की भी चर्चा है कि ममता बनर्जी बीजेपी के युवा नेता वरुण गांधी से भी मुलाकात कर सकती हैं. कहा जा रहा है कि वरुण गांधी बीजेपी का दामन छोड़कर टीएमसी में शामिल हो सकते हैं. बता दें कि हाली में भाजपा ने वरुण गांधी और उनकी मां मेनका गांधी को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति से बाहर कर दिया था.

    Tags: Mamta Banerjee, TMC

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर