Assembly Banner 2021

बंगाल चुनाव: नंदीग्राम में ड्रामे, हंगामे के बीच ईवीएम में कैद हुई ममता बनर्जी, शुभेंदु अधिकारी की किस्मत

नंदीग्राम में ममता बनर्जी का मुकाबला शुभेंदु अधिकारी से है. (फाइल फोटो)

नंदीग्राम में ममता बनर्जी का मुकाबला शुभेंदु अधिकारी से है. (फाइल फोटो)

West Bengal Assembly Election: ममता ने दावा किया कि "मैंने कभी भी इतना बुरा चुनाव नहीं देखा." उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा मतदाताओं को बोयल मोक्ताब प्राइमरी स्कूल बूथ पर मतदान नहीं करने दे रही है.

  • Share this:
नंदीग्राम. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections) के दूसरे चरण के मतदान में बंपर वोटिंग हुई . इस चरण में सभी का ध्यान नंदीग्राम पर था जहां से राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और TMC छोड़ भाजपा में शामिल हुए शुभेंदु अधिकारी चुनावी मैदान में हैं. नंदीग्राम में पूरे दिन हाईवोल्टेज ड्रामा, दावों, वार-पलटवार की स्थिति देखने को मिली. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जिनके भाग्य का फैसला मतदाताओं ने गुरुवार को तय कर दिया. वह काफी आक्रामक दिखीं. ममता ने दावा किया कि "मैंने कभी भी इतना बुरा चुनाव नहीं देखा." उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा मतदाताओं को बोयल मोक्ताब प्राइमरी स्कूल बूथ पर मतदान नहीं करने दे रही है.

ममता पोलिंग बूथ पर करीब एक से डेढ़ घंटे तक रहीं. बनर्जी ने गृह मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाते हुए कहा कि नंदीग्राम में तैनात केंद्रीय बल केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के निर्देश पर भाजपा की मदद कर रहे हैं. इतना ही नहीं, यहां तक कि उन्होंने राज्यपाल के पास फोनकर शिकायत तक दर्ज कराई. ममता ने कहा कि चुनाव आयोग उनके आरोपों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है और उन्होंने कहा कि वह इस मुद्दे को लेकर अदालत में जाएगीं.

Youtube Video




ये भी पढ़ें- बेकाबू कोरोना: दिल्ली में 10 हजार के पार एक्टिव केस,  2790 नए मरीज
अधिकारी ने बताया राजनीतिक ड्रामा
ममता के बूथ से जाने के कुछ घंटों के बाद उनके प्रतिद्वंदी शुभेंदु अधिकारी अपने समर्थकों के साथ बूथ पर पहुंचे और कहा कि मुख्यमंत्री राजनीतिक नौटंकी कर रही हैं. अधिकारी ने आरोप लगाया कि ममता ने बोयल बूथ पर आराम से जारी मतदान प्रक्रिया में बाधा पहुंचाई है. इस संबंध में चुनाव आयोग ने बयान जारी कर सफाई दी कि मतदान केंद्र पर किसी भी तरह की रुकावट नहीं हुई.

जहां एक तरफ नंदीग्राम का ये सूरत-ए-हाल था तो वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ममता के आरोपों और शिकायतों को लेकर उनपर निशाना साधा.

पीएम मोदी के बयान का टीएमसी ने दिया जवाब
बंगाल के जयनगर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ममता के क्रियाकलापों से पता चलता है कि वह नंदीग्राम में हारने जा रही हैं. पीएम मोदी ने कहा कि- बंगाल के लोगों ने ये तय कर लिया है कि दीदी को जाना चाहिए. नंदीग्राम के लोगों का आज सपना पूरा हो गया. वह सिर्फ मतदान नहीं कर रहे हैं लेकिन वह बंगाल के बदलाव के रास्ते की ओर बढ़ रहे हैं.

पीएम मोदी ने ममता से पूछा कि क्या वह एक अन्य सीट से चुनाव लड़ने वाली हैं? इस पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से कहा गया कि ममता आराम से नंदीग्राम सीट जीतने वाली हैं और कहीं और से नॉमिनेशन फाइल करने का सवाल ही नहीं उठता है. वहीं टीएमसी प्रमुख ममता ने मतदान के दौरान प्रधानमंत्री की रैली पर सवाल उठाते हुए इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताया.

बनर्जी ने पूछा कि नरेंद्र मोदी हर मतदान के दिन बंगाल क्यों आते हैं. वह चुनाव के दिन क्यों प्रचार करते हैं. क्या ये आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है?

पश्चिम बंगाल की 294 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे मतदान दो चरण पूरे हो गए हैं जिसमें कि करीब 60 सीटों पर मतदान हो गया है. तीसरे चरण का चुनाव 6 अप्रैल को होगा, इस दिन 31 सीटों पर चुनावी उम्मीदवार मैदान में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज