बंगाल में फसल के नुकसान का आकलन करने के लिए ISRO की तकनीक का सहारा लेगी सरकार

बंगाल में फसल के नुकसान का आकलन करने के लिए ISRO की तकनीक का सहारा लेगी सरकार
फसल के नुकसान का आकलन करेगी बंगाल सरकार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कृषि मंत्री आशीष बनर्जी ने कहा, ‘इससे हमें क्षति का जल्द पता लगाने में मदद मिलेगी. इससे आंकड़ा एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी आफ इंडिया लिमिटेड को सौंपा जा सकेगा.’

  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल सरकार (West Bengal Government) ने किसानों के लिए बीमा दावे के निपटारे की प्रक्रिया में तेजी लाने के मकसद से खराब मौसम के चलते फसल को हुए नुकसान का आकलन करने में इसरो (Isro) के आंकड़ा संग्रहण प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करने का निर्णय किया है. राज्य के कृषि मंत्री आशीष बनर्जी ने कहा, ‘इससे हमें क्षति का जल्द पता लगाने में मदद मिलेगी. इससे आंकड़ा एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी आफ इंडिया लिमिटेड को सौंपा जा सकेगा.’

राज्य के कृषि विभाग के अनुसार अधिकारी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के राष्ट्रीय दूर संवेदी केंद्र (एनआरएससी) के साथ बातचीत कर रहे हैं. इससे खरीफ मौसम के दौरान फसलों को यदि कोई नुकसान होता है तो इसका पता लगाने के लिए वह अपने दूर संवेदी उपग्रह डेटा संग्रहणकर्ता प्रौद्योगिकी को लगा सके.

एग्रीकल्चर इंश्योरंस कंपनी आफ इंडिया लिमिटेड को सौंपी जाएगी रिपोर्ट



मंत्री आशीष बनर्जी ने कहा, ‘पहले कृषि अधिकारियों को क्षति का आकलन करने के लिए खेतों का दौरा करना पड़ता था और वे फसल की स्थिति देखते थे और इसके कारण उन्हें रिपोर्ट तैयार करने में समय लगता था. किसानों को मुआवजे के लिए कई महीने इंतजार करना पड़ता था.’ उन्होंने कहा कि एनआरएससी की प्रौद्योगिकी आधारित प्रणाली तेजी से और सटीक आंकड़ा संग्रह करना सुनिश्चित करेगी. यह क्षति आकलन रिपोर्ट तैयार करने का पहला और महत्वपूर्ण कदम है. इस रिपोर्ट को बाद में एग्रीकल्चर इंश्योरंस कंपनी आफ इंडिया लिमिटेड को सौंपा जाता है.’
उन्होंने कहा, ‘‘हमें बीमा कंपनी की मंजूरी पहले ही मिल गई है. कुछ दिन पहले बीमा कंपनी और हमारे विभाग के बीच बैठक हुई थी. हमने जिला अधिकारियों से प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए कहा है क्योंकि खरीफ मौसम पहले ही शुरू हो चुका है.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading