लाइव टीवी

पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक हैं विदेशी कैदी : NCRB

News18Hindi
Updated: October 29, 2019, 4:44 PM IST
पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक हैं विदेशी कैदी : NCRB
NCRB ने पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक विदेशी कैदी होने का किया दावा

NRC को भाजपा बनाना चाहती है हथियार, एनसीआरबी (NCRB) के आकंड़ों के अनुसार पश्चिम बंगाल (West Bengal) में सबसे अधिक विदेशी कैदी होने का दावा किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2019, 4:44 PM IST
  • Share this:
कोलकाता, राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Records Bureau) के आंकड़ों में पश्चिम बंगाल (West Bengal) में सबसे अधिक विदेशी कैदी होने का दावा किया गया है. इनमें से ज्यादातर बांग्लादेशी हैं. इस रिपोर्ट के आने से भाजपा को राज्य में एनआरसी (NRC) लागू करने की वकालत करने के लिये एक और ठोस वजह मिल गई है.

भाजपा ने लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में एनआरसी, बांग्लादेश से घुसपैठ और तृणमूल सरकार द्वारा मुस्लिम तुष्टिकरण किये जाने को मुख्य चुनावी मुद्दा बनाया था. उसे राज्य की 42 में से 18 सीटें हासिल हुई थीं और अब इन आंकड़ों को भी वह चुनावी हथियार बनाने की तैयारी कर रही है.

कितने कैदी कहां हैं बंद
एनसीआरबी (NCRB) के 2017 के आंकड़ों के अनुसार सभी राज्यों की तुलना में पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक विदेशी कैदी हैं. उसके अनुसार 1,379 विदेशी कैदी पश्चिम बंगाल की जेलों में बंद हैं, जो कि देश में बंद कुल विदेशी कैदियों का 61.9 फीसदी है. इस महीने की शुरुआत में जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार करीब 7 फीसदी विदेशी कैदी महाराष्ट्र, 6.8 फीसदी उत्तर प्रदेश में बंद है. आंकड़ों के अनुसार अगर देखा जाए तो भारत में सबसे अधिक बांग्लादेशी विदेशी कैदी बंद हैं. कुल 1,403 बांग्लादेशी भारतीय जेलों में बंद है, जिसमें से 1,284 पश्चिम बंगाल में बंद हैं.

NCRB करता है गृह मंत्रालय के अधीन काम
एनसीआरबी गृह मंत्रालय के अधीन काम करता है. यह देश में भारतीय दंड संहिता और विशेष तथा स्थानीय कानूनों द्वारा परिभाषित अपराध के आंकड़ों को एकत्र करने और उनका विश्लेषण करने का काम करता है.

NRC को भाजपा बनाना चाहती है हथियार
Loading...

भाजपा सरकार इसे चुनावी हथियार बनाने की तैयारी कर रही है. भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि एनसीआरबी के आंकड़े बांग्लादेश से लगातार हो रही अवैध घुसपैठ से हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उत्पन्न हो रहे खतरे को दर्शाता है. इस आंकड़े से हमारी एनआरसी लागू करने की मांग को ठोस आधार मिलेगा.

बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल 2,216.7 किलोमीटर की सीमा साझा करते हैं, जिसके अधिकतर हिस्से में बाड़ नहीं लगी है. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ेंं: महाराष्ट्र में बीजेपी ऐसे तैयार कर रही है सरकार गठन का रास्ता  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 4:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...