दशहरा भाषण में भागवत ने की BJP की तारीफ, क्या बिहार चुनावों पर पड़ेगा असर?

RSS चीफ मोहन भागवत.
RSS चीफ मोहन भागवत.

मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) का यह बयान बिहार चुनाव के ठीक पहले आया है. क्या मोहन भागवत के इस बयान से बीजेपी को कोई मदद मिलने वाली है?

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 6:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने विजयादशमी को दिए अपने भाषण में बीजेपी की प्रशंसा की है. RSS चीफ ने कहा कि बीजेपी ने कोरोना वायरस (Covid-19) और चीन से सीमा विवाद (Border Dispute With China) के बीच उपजी चुनौतियों का बेहतरीन तरीके से सामना किया. गौरतलब है कि मोहन भागवत का यह बयान बिहार चुनाव के ठीक पहले आया है. क्या मोहन भागवत के इस बयान से बीजेपी को कोई मदद मिलने वाली है?

नागरिकता कानून पर क्या बोले भागवत
अपने भाषण के दौरान भागवत ने नागरिकता कानून के विरोध की भी आलोचना की. उन्होंने इस दौरान स्पष्ट किया कि यह कानून नए नागरिकों को जोड़ने के लिए है. किसी को देश से निकालना इसका उद्देश्य नहीं है. उन्होंने कहा कि आर्टिकल 370 हटाए जाने और राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद देश में शांति रही लेकिन सीएए विरोधी प्रदर्शनों की वजह से अशांति का माहौल बना.

विरोधियों को लिया निशाने पर
उन्होंने सेंटर-लेफ्ट रुझान वाली पार्टियों की ओर निशाना साधते हुए उन्हें विभाजनकारी राजनीति का दोषी भी ठहराया. साथ ही उन्होंने कहा कि समाज को बांटने और हिंसा फैलाने के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ की कोशिश की गई. उन्होंने विरोध के लिए लोकतांत्रिक रास्तों के चुनाव पर बल दिया.





पिछले विधानसभा चुनाव में हुआ था बवाल
गौरतलब है कि बीते बिहार विधानसभा चुनाव में उनके एक बयान को लेकर काफी-हो हल्ला मचा था. तब मोहन भागवत ने ऐन चुनाव के दौरान कहा था कि आरक्षण की समीक्षा को लेकर एक समिति बनाए जाने की जरूरत है. उन्होंने कहा था कि इस समिति को समीक्षा करनी चाहिए कि किसे आरक्षण दिया जाए और किसे नहीं. इस बयान को लेकर राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने बड़ा मुद्दा बनाया था. चुनाव बाद बीजेपी की हार के लिए मोहन भागवत के बयान को भी जिम्मेदार माना गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज