पश्चिमी देशों की नियामक संस्था ने नहीं दी है मंजूरी
बता दें कि भारत में फिलहाल Bharat Biotech की वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की इजाजत है, लेकिन अभी तक इस टीके को किसी पश्चिमी देश की नियामक संस्था से मंजूरी नहीं मिली है. इसकी वजह से कई देशों ने कोवैक्सीन लगवाने वाले लोगों के ट्रैवल को इजाजत नहीं दी है.

हाल ही में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा बायोरक्सिव में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार भारत बायोटेक का कोविड-19 टीका Covaxin कोरोना के डेल्टा प्लस स्वरूप के खिलाफ प्रभावी है. अध्ययन में कहा गया है कि आईजीजी एंटीबॉडी का मूल्यांकन किया गया है. इसमें बीबीवी 152 टीके की पूर्ण खुराक वाले व्यक्तियों में कोविड-19 की आशंका को खत्म कर दिया है. इसमें डेल्टा, डेल्टा एवाई.1 और बी.1.617.3 के खिलाफ बीबीवी152 टीकों का मूल्यांकन किया गया.