• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • भारत बायोटेक का दावा- अगले साल से मिलेगी सिंगल डोज वैक्सीन, नाक में डाली जाएंगी दो बूंदें

भारत बायोटेक का दावा- अगले साल से मिलेगी सिंगल डोज वैक्सीन, नाक में डाली जाएंगी दो बूंदें


इंग्लैंड में एनएचएस के राष्ट्रीय चिकित्सा निदेशक प्रोफेसर स्टीफन पॉविस ने कहा कि यह सलाह एहतियाती आधार पर दी गई है. इससे किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है. जिन दो लोगों के ऊपर इस वैक्सीन का उल्टा असर पड़ा है वे भी ठीक हो रहे हैं. बताया जा रहा है कि ये दोनों ही स्वास्थ्यकर्मी Anaphylactoid Reactions के शिकार हुए थे.

इंग्लैंड में एनएचएस के राष्ट्रीय चिकित्सा निदेशक प्रोफेसर स्टीफन पॉविस ने कहा कि यह सलाह एहतियाती आधार पर दी गई है. इससे किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है. जिन दो लोगों के ऊपर इस वैक्सीन का उल्टा असर पड़ा है वे भी ठीक हो रहे हैं. बताया जा रहा है कि ये दोनों ही स्वास्थ्यकर्मी Anaphylactoid Reactions के शिकार हुए थे.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस अधानोम घेब्रियेसिस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कहा है कि वैक्सीन आने के बाद भी कोरोना महामारी अपने आप नहीं रुकेगी. ट्रेडोस के मुताबिक, वैक्सीन केवल अपने दम पर माहमारी नहीं रोक पाएगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) के खिलाफ वैक्सीन को लेकर एक अच्छी खबर सामने आई है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की स्वदेशी वैक्सीन (Vaccine) अगले साल से मिल सकती है. कंपनी ने दावा किया है कि अगले साल से सिंगल डोज वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी. खास बात है कि इस वैक्सीन की दो ड्रॉप नाक में डाली जाएगी.

    WHO का दावा- वैक्सीन के बाद भी नहीं रुकेगी महामारी
    विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस अधानोम घेब्रियेसिस ने कहा है कि वैक्सीन आने के बाद भी कोरोना महामारी अपने आप नहीं रुकेगी. डब्ल्युएचओ प्रमुख ने सोमवार को बताया कि वैक्सीन आने से दूसरे माध्यम मजबूत तो होंगे, लेकिन उन्हें रिप्लेस नहीं कर पाएंगे. ट्रेडोस के मुताबिक, वैक्सीन केवल अपने दम पर महामारी नहीं रोक पाएगी.

    चरणों में लगाई जाएगी वैक्सीन
    अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स को सरकारी अधिकारी ने बताया 'चर्चाओं के अनुसार, टीकाकरण चरणों में होगा और प्राथमिकता हाई रिस्क वाली आबादी को दी जाएगी.' उन्होंने बताया, 'इस आबादी में हेल्थकेयर में शामिल लोग और महामारी को रोकने में जमीनी स्तर पर काम कर रहे फ्रंटलाइन कर्मी शामिल होंगे.' इसके अलावा कम इम्युनिटी और बीमारियों के चलते ज्यादा जोखिम वाले वर्ग में शामिल बुजुर्गों को वैक्सीन दी जाएगी.' अधिकारी ने  बताया 'प्लान अभी तक फाइनल नहीं किया गया है, इस पर काम जारी है.

    हाल ही में 8 अक्टूबर तक प्रयोगात्मक वैक्सीन को लेकर आए एडवांस मार्केट कमिटमेंट्स के ग्लोबल एनालिसिस के मुताबिक, भारत ने एंटी कोविड 19 के 60 करोड़ डोज के प्री ऑर्डर के लिए अपनी मैन्युफेक्चरिंग क्षमता का उपयोग किया है. इसके अलावा भारत 100 करोड़ वैक्सीन डोज के लिए बातचीत कर रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज