Coronavirus Vaccine: अगले साल जून तक लॉन्‍च हो जाएगी कोरोना वायरस की स्‍वदेशी वैक्‍सीन- भारत बायोटेक का दावा

जून 2021 तक आ सकती है कोरोना की वैक्‍सीन.
जून 2021 तक आ सकती है कोरोना की वैक्‍सीन.

Coronavirus Vaccine: भारत बायोटेक के मुताबिक उसकी योजना 12 से 14 राज्‍यों के करीब 20,000 से अधिक लोगों को इस ट्रायल में शामिल करने की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2020, 7:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) की वैक्‍सीन विकसित करने के लिए दुनिया भर में शोध हो रहे हैं. इस बीच भारतीय कंपनी भारत बायोटेक (Bharat Biotech) स्‍वदेशी कोरोना वायरस वैक्‍सीन (Covid 19 Vaccine) 'कोवैक्‍सिन' (Covaxin) पर काम कर रही है. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने कंपनी को इस वैक्‍सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी दे दी है. वहीं कंपनी का कहना है कि कोरोना वायरस की यह स्‍वदेशी वैक्‍सीन अगले साल यानी 2021 के जून तक लॉन्‍च होने की पूरी संभावनाएं हैं.

हैदराबाद स्थित कंपनी ने 2 अक्टूबर को डीसीजीआई को आवेदन देकर अपने टीके के तीसरे चरण के लिए परीक्षण की अनुमति मांगी थी. कंपनी की योजना 12 से 14 राज्‍यों के करीब 20,000 से अधिक लोगों को इस ट्रायल में शामिल करने की है. भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के एक्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर साई प्रसाद ने बताया कि अगर सभी तरह की अनुमति कंपनी को ठीक समय पर मिल गईं तो ऐसे में संभावना है कि 2021 की दूसरी तिमाही तक वैक्‍सीन के तीसरे क्‍लीनिकल ट्रायल की सभी क्षमताओं और नतीजों के बारे में हमें पता चल जाएगा.

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के सहयोग से विकसित कोवैक्सिन ऐसा टीका है, जिसमें शक्तिशाली इम्‍यून सिस्‍टम विकसित करने के लिए कोविड-19 वायरस के 'मारे गए विषाणुओं' को शरीर में इंजेक्ट किया जाता है.

वहीं भारत में सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया भी कोरोना वायरस संक्रमण की वैक्‍सीन 'कोवीशील्‍ड' बना रहा है. माना जा रहा है कि उसका कार्य भारत बायोटेक से आगे चल रहा है. कहा जा रहा है सीरम इंस्‍टीट्यूट ने तीसरे चरण के ट्रायल के लिए लोगों की चुनाव भी करना शुरू कर दिया है. साई प्रसाद ने कहा, 'हम अपने सभी चरण -1, चरण -2 और चरण -3 क्‍लीनिकल ट्रायल को पूरी तरह से करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, लेकिन मुझे लगता है कि सरकार आपातकालीन उपयोग की मंजूरी पर भी विचार कर सकती है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज