• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • भारत बायोटेक और SII की वैक्सीन को इमरजेंसी यूज की अनुमति नहीं

भारत बायोटेक और SII की वैक्सीन को इमरजेंसी यूज की अनुमति नहीं

यह टीका फाइजर के एनवाईएसई:पीएफई और ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन के एलएसई:जीएसके के मुकाबले ज्यादा किफायती होगा (सांकेतिक तस्वीर)

यह टीका फाइजर के एनवाईएसई:पीएफई और ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन के एलएसई:जीएसके के मुकाबले ज्यादा किफायती होगा (सांकेतिक तस्वीर)

जानकारी मिली है कि इन दोनों वैक्सीन प्रोजेक्ट्स (Vaccine Projects) को डेटा की कमी (Lack of Data) के चलते अनुमति नहीं दी गई है. भारत बायोटेक ने बीते सोमवार को ड्रग्स कंट्रोल जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) से अपनी वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की अनुमति मांगी थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत बायोटेक (Bharat Biotech) और सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) की वैक्सीन को इमरजेंसी यूज (Emergency Use)  की अनुमति नहीं दी गई है. यह बात न्यूज़18 को सूत्रों (Sources) के हवाले पता चली है. जानकारी मिली है कि इन दोनों वैक्सीन प्रोजेक्ट्स (Vaccine Projects) को डेटा की कमी (Lack of Data) के चलते अनुमति नहीं दी गई है.

    दोनों फार्मा कंपनियों ने सरकार से मांगी थी इजाजत
    गौरतलब है कि भारत बायोटेक ने बीते सोमवार को ड्रग्स कंट्रोल जनरल ऑफ इंडिया (DGCI)  से अपनी वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की अनुमति मांगी थी. भारत बायोटेक ने वैक्सीन इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के साथ मिलकर तैयार की है. इसके अलावा सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने एस्ट्रेजेनेका-ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन के लिए इमरजेंसी यूज की अनुमति मांगी थी. SII भी इस प्रोजेक्ट में पार्टनर है और इस प्रोजेक्ट का भारत में ट्रायल भी कर रही है.

    Pfizer ने भी इमरजेंसी यूज की अनुमति मांगी
    भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट की वैक्सीन के अलावा अमेरिकी दवा कंपनी Pfizer ने भी इमरजेंसी यूज की अनुमति मांगी थी. मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अगले कुछ हफ्तों में कुछ कोविड वैक्सीन्स को लाइसेंस दिया जा सकता है. गौरतलब है कि ब्रिटेन में Pfizer की वैक्सीन का उपयोग शुरू भी किया जा चुका है.



     देश में 8 कंपनियां कोविड वैक्सीन विकसित करने में लगीं
    बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ देश में 8 कंपनियां कोविड वैक्सीन विकसित करने में लगी हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को इस बारे में जानकारी दी थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज