• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • जनवरी में शुरू होगा भारत बायोटेक की नाक से दी जाने वाली वैक्सीन का ट्रायल

जनवरी में शुरू होगा भारत बायोटेक की नाक से दी जाने वाली वैक्सीन का ट्रायल

इन दोनों के बीमार होने के बाद आनन-फानन में ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस को चेतावनी जारी करनी पड़ी है. फाइजर ने भारत में भी वैक्सीनेशन के लिए सरकार से अनुमति मांगी है. ऐसे में सरकार ऐसे सभी मामलों पर करीबी निगाह बनाए हुए है. ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) ने बताया है कि इन दोनों को वैक्सीन के कारण एलर्जिक रिएक्शन हुआ है.

इन दोनों के बीमार होने के बाद आनन-फानन में ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस को चेतावनी जारी करनी पड़ी है. फाइजर ने भारत में भी वैक्सीनेशन के लिए सरकार से अनुमति मांगी है. ऐसे में सरकार ऐसे सभी मामलों पर करीबी निगाह बनाए हुए है. ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) ने बताया है कि इन दोनों को वैक्सीन के कारण एलर्जिक रिएक्शन हुआ है.

टीका निर्माता कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला (Krishna Ella) ने मंगलवार को यह बात कही. उन्होंने तीन दिवसीय टाई ग्लोबल समिट (टीजीएस) के एक सत्र को डिजिटल तरीके से संबोधित करते हुए कहा कि भारत बायोटेक कोवैक्सीन समेत अन्य टीकों के उत्पादन के लिए दो और इकाइयां लगा रही है.

  • Share this:
    हैदराबाद. भारत बायोटेक (Bharat Biotech) नाक के माध्यम से दिया जाने वाला कोविड-19 रोधी टीका (intranasal vaccine) विकसित कर रही है जिसका पहले चरण का परीक्षण अगले महीने शुरू हो सकता है. टीका निर्माता कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला (Krishna Ella) ने मंगलवार को यह बात कही. उन्होंने तीन दिवसीय टाई ग्लोबल समिट (टीजीएस) के एक सत्र को डिजिटल तरीके से संबोधित करते हुए कहा कि भारत बायोटेक कोवैक्सीन समेत अन्य टीकों के उत्पादन के लिए दो और इकाइयां लगा रही है.

    यह एक बार में दिया जाने वाला टीका होगा
    उन्होंने बेंगलुरु की कंपनी बायकोन लिमिटेड की अध्यक्ष किरण मजूमदार शॉ के साथ एक संवाद सत्र में कहा, ‘मुझे लगता है कि टीके के परीक्षण का पहला चरण (अगले महीने) शुरू होगा क्योंकि यह एक बार में दिया जाने वाला टीका होगा. क्लिनिकल ट्रायल की प्रक्रिया भी अपेक्षाकृत तेज होगी.’ एल्ला ने कहा कि कोविड-19 के आने वाले टीकों की इंजेक्शन के जरिये दो खुराक देने की जरूरत होगी और भारत जैसे देश में 2.6 अरब सिरिंज तथा सुइयों की जरूरत होगी जिससे प्रदूषण में भी वृद्धि होगी.

    वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल के साथ करार
    उन्होंने कहा कि भारत बायोटेक ने कई चीजों को ध्यान में रखते हुए एक नये ‘चिंप-एडिनोवायरस’ टीके के लिए सेंट लुईस में वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल के साथ करार किया है जो कोविड-19 के लिए नाक के माध्यम से एक खुराक में दिया जा सकने वाला टीका होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज