भीमा कोरेगांव जांच आयोग को मिला 7वां विस्तार, 31 दिसंबर तक जमा करनी होगी रिपोर्ट

भीमा कोरेगांव का  विजय स्तम्भ. (फाइल फोटो)
भीमा कोरेगांव का विजय स्तम्भ. (फाइल फोटो)

गृह विभाग के डिप्टी सेक्रेटरी (Deputy secretary of home department) वीएम भट ने कहा, 'इस सरकारी आदेश (Government order) के माध्यम से, आयोग को 31 दिसंबर, 2020 तक सातवां और अंतिम विस्तार दिया गया है. आयोग को विस्तारित अवधि के भीतर अपनी रिपोर्ट दाखिल (Report filing) करनी होगी.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 8:14 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के गृह विभाग ने भीमा कोरेगांव जांच आयोग को अपनी जांच पूरी करने के लिए 7वां और अंतिम विस्तार दिया है. दो सदस्यीय जांच आयोग को भीमा कोरेगांव हिंसा के मामले में अपनी रिपोर्ट 31 दिसंबर तक जमा करानी होगी. इस जांच आयोग का गठन 1 जनवरी 2018 को किया गया था. जांच आयोग पुणे के पास भीमा कोरेगांव में जातीय हिंसा की जांच कर रहा है. वहीं इससे पहले लॉकडाउन के समय 8 अप्रैल को जांच आयोग की समय सीमा बढ़ाई गई थी.

गृह विभाग के डिप्टी सेक्रेटरी वीएम भट ने कहा, 'इस सरकारी आदेश के माध्यम से, आयोग को 31 दिसंबर, 2020 तक सातवां और अंतिम विस्तार दिया गया है. आयोग को विस्तारित अवधि के भीतर अपनी रिपोर्ट दाखिल करनी होगी.' आयोग के रजिस्ट्रार, वीवी पलनीटकर ने कहा कि, कोविड -19 की वजह से आयोग और उसके कर्मचारियों को सुनवाई के दौरान समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. संक्रमण की आशंका के कारण अधिवक्ताओं और गवाहों का सुनवाई में भाग लेना मुश्किल हो गया है. कर्मचारी वायरस के उच्च जोखिम के बारे में भी चिंतित हैं और उन्होंने अपनी आशंका व्यक्त की है.





यह भी पढ़ें: सुशांत के बहाने हमारे राज्य को बदनाम करने वाले मांगें माफी: महाराष्ट्र गृह मंत्री
वहीं पलनीटकर ने कहा कि, आयोग उन्हें ऐसी स्थिति में कार्यालय में नहीं आने देना चाहता और इसके अलावा वे सरकारी कर्मचारी नहीं हैं. उन्होंने कहा कि इससे पहले, हमें कोविड-19 के दौरान सुनवाई स्थगित करनी पड़ी और अब स्थिति और बढ़ गई है. हमें सुनवाई करना बहुत मुश्किल लग रहा है.

यह भी पढ़ें: बॉर्डर पर रोके जाने के बाद राहुल गांधी को मिली हरियाणा जाने की इजाजत

आपको बता दें महाराष्ट्र सरकार ने भीमा कोरेगांव हिंसा की जांच के लिए आयोग का गठन किया था, जो पुणे जिले में भीमा-कोरेगांव लड़ाई की 200वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान हुई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज