लाइव टीवी

बुरी खबर! भूटान जाने के लिए अब भारतीयों को देनी होगी 1200 रुपये/दिन की फीस

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 5:27 PM IST
बुरी खबर! भूटान जाने के लिए अब भारतीयों को देनी होगी 1200 रुपये/दिन की फीस
भूटान की एक सांकेतिक तस्वीर (फोटो- Reuters)

भूटान सरकार (Bhutanese Government) ने भारतीय पासपोर्ट धारकों (Indian Passport Holders) के लिए देश में फ्री एंट्री (Free Entry) बंद करने का फैसला लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 5:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय पर्यटकों को भूटान हमेशा से अपनी खूबसूरती से आकर्षित करता रहा है. पर्यटकों के लिए यह घूमने की सबसे मुफीद जगह माना जाता है. उसमें भी सबसे खास बात यह है कि यह देश भारत के बगल में है. इन सारी वजहों से भारत से बड़ी संख्या में पर्यटक यहां जाते भी हैं. इन बातों के अलावा भी भारत से पर्यटकों के बड़ी संख्या में भूटान जाने की वजह यह रही कि यहां पर जाने के लिए कोई फीस अभी तक नहीं देनी होती थी.

लेकिन फिलहाल, भूटान सरकार (Bhutanese Government) की एक नई स्कीम इसे बदलने वाली है. भूटान सरकार ने भारतीय पासपोर्ट धारकों (Indian Passport Holders) के लिए देश में फ्री एंट्री (Free Entry) बंद करने का फैसला लिया है.

वयस्कों के लिए 1200 और बच्चों के लिए 600 रुपये की चुकानी होगी फीस
भूटान ने हाल में ही नियमों में बदलाव किए हैं, अब जुलाई, 2020 से भारतीय पर्यटकों को भूटान जाने के लिए प्रतिदिन के हिसाब से 1,200 रुपये देने होंगे. अन्य देश जो भूटान की इस स्कीम में शामिल रहेंगे, वे मालदीव और बांग्लादेश हैं. वहीं 6 से 12 साल के बच्चों के लिए यह फीस 600 रुपये होगी. इस फीस को सस्टेनेबल डेवलपमेंट फीस (SDF) कहा जा रहा है. यह कदम भूटान की सरकार ने देश के ऊपर पर्यटकों के भारी बोझ को नियंत्रित करने के लिए उठाया है.

अन्य देशों के नागरिकों के लिए यह फीस भारत से करीब चार गुनी ज्यादा
भारतीय पासपोर्ट धारकों के लिए SDF के तहत लगने वाली फीस, अन्य देशों के यात्रियों के लिए रखी गई फीस की अपेक्षा काफी कम है. अन्य देशों के यात्रियों को अब करीब 65 डॉलर यानि 4,631 रुपये की कंपल्सरी फीस भूटान यात्रा के लिए देनी होगी. इसके अलावा अन्य देशों के यात्रियों को 250 डॉलर यानि 17,811 रुपये का फ्लैट कवर चार्ज भी देना होगा. देश की नेशनल असेंबली ने इस फीस को लगाने के लिए टूरिज्म लेवी एंड एक्सम्पशन बिल ऑफ भूटान, 2020 नाम का एक बिल पास किया.

पहले सिर्फ दो वैध डॉक्यूमेंट्स लेकर जा सकते थे भूटानइससे पहले भारतीय नागरिकों को भूटान जाने के लिए केवल दो वैध डॉक्यूमेंट्स ले जाने जरूरी होते थे. और उन्हें कोई भी एंट्री फीस नहीं देनी होती थी. ट्रैवल डॉक्यूमेंट्स के तौर पर वे भारतीय पासपोर्ट ले जा सकते थे जो कम से कम 6 महीने के लिए वैध हो या वोटर आईडी कार्ड भी इसका काम कर देता था. भारतीय नागरिकों के भूटान जाने के लिए किसी वीज़ा का प्रावधान नहीं है.

यह भी पढ़ें: चीनी राजदूत: चीन में मौजूद भारतीयों की सुरक्षा के लिए हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 5:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर