मोदी सरकार का मुस्लिम लड़कियों को एक और बड़ा तोहफा

हालांकि ईद का तोहफा देते हुए पीएम मोदी ने 5 साल में 5 करोड़ अल्पसंख्यकों को छात्रवृत्ति देने की बड़ी घोषणा पहले ही कर चुके हैं. अब सरकार बनने के 11 दिन बाद ही पीएम नरेन्द्र मोदी ने मुस्लिम लड़कियों के लिए एक और बड़ी घोषणा की है.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 15, 2019, 10:24 AM IST
मोदी सरकार का मुस्लिम लड़कियों को एक और बड़ा तोहफा
फाइल फोटो- पीएम नरेन्द्र मोदी.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 15, 2019, 10:24 AM IST
केन्द्र की सत्ता में दोबारा आने के साथ ही नरेन्द्र मोदी सरकार ने अपनी मंशा जाहिर करते हुए एक नारा दिया था “सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास”. इसी को साबित करने के लिए सरकार बनने के 11 दिन बाद ही पीएम नरेन्द्र मोदी ने मुस्लिम लड़कियों के लिए एक बड़ी घोषणा की है. हालांकि ईद का तोहफा देते हुए पीएम मोदी 5 साल में 5 करोड़ अल्पसंख्यकों को छात्रवृत्ति देने की बड़ी घोषणा पहले ही कर चुके हैं.

छात्रवृत्ति में लड़कियों की होगी 50 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सेदारी

11 जून को अल्पसंख्यक कार्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मौलाना आज़ाद एजुकेशन फाउंडेशन की गवर्निंग बॉडी की अध्यक्षता की थी. बैठक में फाउंडेशन के उपाध्यक्ष अशफाक सैफी भी मौजूद थे. इसी दौरान नकवी ने सरकार की इस बड़ी घोषणा से अवगत कराते हुए बताया कि अल्पसंख्यक मंत्रालय की ओर से दी जाने वाली छात्रवृत्ति में 50 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सेदारी अल्पसंख्यक लड़कियों की होगी.

वहीं अलग से लड़कियों को दी जाने वाली बेगम हजरत महल बालिका स्कालरशिप के तहत भी 10 लाख से ज्यादा छात्रवृत्ति दी जाएंगी. दूसरी ओर देशभर में ड्रॉपआउट लड़कियों को देश के प्रतिष्ठित इंस्टीट्यूट से ब्रिज कोर्स कराकर उन्हें शिक्षा और रोजगार से जोड़ा जाएगा.

फोटो- मौलाना आज़ाद एजुकेशन फाउंडेशन.


खुलेंगे नए पॉलिटेक्निक और आईटीआई

अल्पसंख्यकों के लिए नकवी ने एक और घोषणा करते हुए कहा कि जिन इलाकों में स्कूल-कॉलेज और इंस्टीट्यूट की सुविधाएं नहीं हैं वहां पीएम जन विकास कार्यक्रम के तहत पॉलिटेक्निक, आईटीआई, गर्ल्स हॉस्टल, कॉलेज,स्कूल, गुरुकुल की तर्ज पर आवासीय स्कूल, कॉमन सर्विस सेंटर आदि का निर्माण युद्धस्तर पर कराया जाएगा.
फाइल फोटो.


उनका ये भी कहना था कि पढ़ो और बढ़ो जागरुकता अभियान के तहत उन सभी क्षेत्रों में जहां समाजिक एवं आर्थिक रूप से पिछड़ापन है और लोग अपने बच्चों को पढ़ने के लिए नहीं भेजते हैं वहां नुक्कड़ नाटक, लघु फिल्म और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए जागरुकता अभियान चलाए जाएंगे.

फ्री कोचिंग की दी जाएगी सुविधा

बैठक में मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर सभी अलपसंख्यक छात्रों को बैंक, कर्मचारी चयन आयोग, रेलवे और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की फ्री कोचिंग देने की व्यवस्था की जाएगी.

ये भी पढ़ें- ‘शरीयत में नहीं तुरंत तीन तलाक का जिक्र, कथित उलेमाओं ने बनाया शिगूफा’

दबंगों ने सिर्फ इस लिए दलित के तोड़ दिए हाथ! न्याय के लिए भटक रहा परिवार

आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने मुस्लिमों से कहा, 'कट्टरता' को तलाक दे दो!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...