लाइव टीवी
Elec-widget

Exclusive: पाकिस्तान ने दो साल पहले गलती से सीमापार गए 2 भारतीयों की अब दिखाई गिरफ्तारी, लगाया आतंकवाद का आरोप

Shailendra Wangu | News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 10:21 AM IST
Exclusive: पाकिस्तान ने दो साल पहले गलती से सीमापार गए 2 भारतीयों की अब दिखाई गिरफ्तारी, लगाया आतंकवाद का आरोप
पाकिस्तान में गिरफ्तार हुए प्रशांत और वारी लाल

पाकिस्तान (Pakistan) इन दोनों भारतीयों को मोहरा बनाने की साज़िश रच रहा है. 2017 से लेकर अब तक पाकिस्तान ने कोई जानकारी साझा नहीं की, लेकिन सोमवार को अचानक दोनों की एक साथ गिरफ्तारी दिखाई गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 10:21 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत से बौखलाया पाकिस्तान (Pakistan) हर दिन नई साजिश रच रहा है. सोमवार को पाकिस्तान चैनलों पर 2 भारतीयों की गिरफ्तारी की खबर दिखाई गई. बताया गया कि यह दोनों बिना पासपोर्ट पाकिस्तान में घुसपैठ करते पकड़े गए. टीवी पर उनकी तस्वीर दिखाकर दावा किया गया कि दोनों भारतीय नागरिकों को पाकिस्तान के बहावलपुर में पकड़ा गया. पाक के टीवी चैनलों पर दिखाई जा रही एफआईआर के मुताबिक, पकड़े गए दो लोगों में एक का नाम प्रशांत है, जो हैदराबाद के रहने वाले हैं. दूसरा भारतीय मध्य प्रदेश निवासी वारी लाल हैं. पाकिस्तान ने इनपर आतंकवाद (Terrorism) में शामिल होने के आरोप लगाए हैं, लेकिन सच्चाई कुछ और है.

सूत्रों ने News18 से कहा कि असल में यह दोनों भारतीय 2017 में ही गलती से सीमापार कर पाकिस्तान पहुंच गए थे. भारत ने पाकिस्तान से वारी लाल का मामला दिसंबर 2018 में उठाया था. तस्वीर के साथ वारी लाल की जानकारी भी साझा की गई, वहीं प्रशांत को लेकर इसी साल मई में पाक सरकार से जानकारी मांगी गई थी. भारत ने दोनों के लिए कांसुलर एक्सेस की मांग भी की, लेकिन पाकिस्तान ने दोनों मामलों में कोई जवाब नहीं दिया.

अब पाकिस्तान इन दोनों भारतीयों को मोहरा बनाने की साज़िश रच रहा है. 2017 से लेकर अब तक पाकिस्तान ने कोई जानकारी साझा नहीं की, लेकिन सोमवार को अचानक दोनों की एक साथ गिरफ्तारी दिखाई गई. सोमवार को इनकी गिरफ्तारी की घोषणा हैरान करने वाली है. भारत को संदेह है कि इन दोनों को पाकिस्तान अपने नापाक एजेंडे के लिए मोहरा बना रहा है. भारत ने पाकिस्तान से इन दोनों भारतीयों की गिरफ्तारी की जानकारी मांगी है. साथ ही इनके कांसुलर एक्सेस की मांग भी की है.


FIR
पाक के टीवी चैनलों पर ये एफआईआर दिखाई जा रही है.


प्रशांत और वारी लाल जैसे और भी हैं मामले
सूत्रों ने News 18 से कहा कि गलती से सीमापार करने वाले और भी कई मामले हैं, जो 2016/2017 से पाकिस्तान में लंबित हैं. इसमें राजस्थान के रामदास और रजनी गोथ (बिहार) के जस्सी सिंह भी शामिल है. इन सभी मामलों पर भारत पाकिस्तान से संपर्क में है. एक जानकारी के मुताबिक, मौजूदा समय में 209 भारतीय मछुआरे और 52 आम नागरिक पाकिस्तान में कैद हैं.

कश्मीर पर भारत के फैसले का रिहाई पर असर
Loading...

5 अगस्त को भारत ने आर्टिकल 370 के कई प्रावधानों को खत्म कर दिया था. पाकिस्तान ने बौखलाहट में 5 भारतीय नागरिकों और सैकड़ों भारतीय मछुआरों की रिहाई पर रोक लगा दी. हालांकि, इन सभी की नागरिकता की पुष्टि और सज़ा पूरी हो चुकी थी. 5 अगस्त को ही दो भारतीयों की रिहाई तय थी, लेकिन कश्मीर पर फैसले के बाद उन्हें अटारी से ही वापिस लौटा दिया गया. उनकी रिहाई पर रोक लगा दी गई.

PAK ने यूएन को लिखा पत्र, कहा- कश्मीर के विभाजन को करें कैंसिल

लगातार चलते गतिरोध के बीच स्पाइसजेट और एयरएशिया एयरलाइन्स ने हांगकांग की फ्लाइट्स में कटौती की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 7:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...