Assembly Banner 2021

बड़ी खबर: महाराष्ट्र के नांदेड़ और बीड में 4 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन

कोरोना वायरस की वजह से नागपुर में लगा लॉकडाउन. (पीटीआई फाइल फोटो)

कोरोना वायरस की वजह से नागपुर में लगा लॉकडाउन. (पीटीआई फाइल फोटो)

Coronavirus in Maharashtra: मार्च की शुरुआत से ही महाराष्ट्र में कोरोना के हाल बिगड़ने लगे थे. महाराष्ट्र में मंगलवार को कोविड-19 (Covid-19) के 28,699 नए मामले सामने आए हैं और 132 लोगों की मौत हुई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 12:03 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में सरकार ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर बड़ा फैसला लिया है. खबर है कि राज्य में नांदेड़ (Nanded) और बीड (Beed) में 4 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन लगने जा रहा है. ये पाबंदियां आज रात 12 बजे से लागू हो जाएंगी. हालांकि, इस दौरान जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी. वहीं, प्रशासन ने दूध, सब्जी की दुकानों को सुबह 7 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक खुलने की छूट दे दी है. खास बात है कि राज्य के कई जिलों में पहले ही वीकेंड्स लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जारी है.

परभणी में आज शाम से लॉकडाउन
राज्य के मराठावाड़ा क्षेत्र के परभणी में पहले ही प्रशासन एक हफ्ते के लॉकडाउन की घोषणा कर चुका है. अधिकारी ने जानकारी दी है कि बुधवार शाम 7 बजे से क्षेत्र में लॉकडाउन लागू हो जाएगा. ये पाबंदियां 31 मार्च तक जारी रहेंगी. जिला कलेक्टर दीपक मुगलिकर ने दावा किया है कि रात में लोगों को घर से नहीं निलकने देने से मदद नहीं मिल रही है. क्योंकि नए मामलों का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है. बीते सोमवार को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा था कि अगर नए मामलों में बढ़त जारी रही, तो सीएम ठाकरे कुछ शहरों में लॉकडाउन लगा सकते हैं.

Youtube Video

मार्च की शुरुआत से ही महाराष्ट्र में कोरोना के हाल बिगड़ने लगे थे. महाराष्ट्र में मंगलवार को कोविड-19 के 28,699 नए मामले सामने आए हैं और 132 लोगों की मौत हुई थी. खास बात है कि राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पहले ही लॉकडाउन को लेकर चेतावनी दे चुके थे. उन्होंने लोगों से कोविड नियमों को मानने की अपील की थी.



महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में बीते 6 दिनों से मामले 6 हजार के आसपास बने हुए हैं. हालांकि, राहत देने वाली खबर यह है कि 11 जिलों में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है. मंगलवार को 4 हजार 636 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे. यह अभी तक का सबसे ज्यादा आंकड़ा है. इस दौरान विदर्भ में 6 हजार 244 नए मामले आए थे. जिसके बाद क्षेत्र में कुल मरीजों की संख्या 4.25 लाख से ज्यादा हो गई है. खास बात है कि अकेले मार्च में ही 1.05 लाख कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं, मार्च के 23 दिनों में 72 हजार 290 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.

ठाणे में वैक्सीन की मांग बढ़ी
ठाणे में लोगों के बीच वैक्सीन की मांग बढ़ी है. यहां के मेयर नरेश म्हास्के ने इसके संबंध में सीएम ठाकरे को पत्र लिखा है. उन्होंने सरकार से लोगों के बीच 'बढ़ती मांग' को देखते हुए सरकार से और ज्यादा वैक्सीन उपलब्ध कराने की बात कही है. म्हास्के ने कहा है कि ठाणे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन को 1 लाख 62 हजार 500 डोज कोविशील्ड के मिले हैं, जिनमें से 94 हजार 42 डोज का इस्तेमाल हो चुका है. फिलहाल 68 हजार 458 डोज स्टॉक में हैं. वहीं, प्राप्त 39 हजार 220 कोवैक्सीन के डोज में से 20 हजार 825 स्टॉक में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज