अच्छी खबर! एम्स के COVAXIN ट्रायल में शामिल शख्स में नहीं दिखा कोई रिएक्शन

अच्छी खबर! एम्स के COVAXIN ट्रायल में शामिल शख्स में नहीं दिखा कोई रिएक्शन
एम्स में COVAXIN का ट्रायल शुरू हो गया है. अभी तक के परिणाम काफी बेहतर हैं.(सांकेतिक तस्वीर)

एम्स (AIIMS) में पहले दिन 30 साल के एक शख्स को कोरोना वैक्सीन (COVAXIN) लगाई गई थी. बताया जाता है कि वैक्सीनेशन के बाद शख्स में किसी भी प्रकार का रिएक्शन नहीं दिखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 25, 2020, 12:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामलों के बीच अब भारत (India) में बनी कोवैक्सीन (COVAXIN) नाम की कोरोना वैक्सीन पर बड़ी खबर आई है. कोरोना की वैक्सीन (COVAXIN) का एम्स (AIIMS) में चल रहा ट्रायल बेहतर रिजल्ट दे रहा है. एम्स में पहले दिन 30 साल के एक शख्स को कोरोना वैक्सीन लगाई गई थी. बताया जाता है कि वैक्सीनेशन के बाद शख्स में किसी भी प्रकार का कोई रिएक्शन नहीं दिखआ है. एम्स में ट्रायल के प्रिंसिपल इनवेस्टिगेटर डॉक्टर संजय राय के मुताबिक कोरोना वैक्सीन का ट्रायल शुरू हो गया है और हम अब वैक्सीन के ट्रायल के लिए वॉलंटियर्स की संख्या और बढ़ाएंगे.

बता दें कि कोरोना की वैक्सीन के ट्रायल के लिए अब तक 12 वॉलंटियर्स को चुना जा चुका है. इन वॉलंटियर्स में से दो को शुक्रवार को वैक्सीन के ट्रायल के लिए बुलाया गया था, जिसमें से एक वॉलंटियर ​निजी कारणों से एम्स नहीं पहुंच सका. यही कारण है कि शुक्रवार को केवल एक ही वॉलंटियर को वैक्सीन दी जा सकी. एम्स में ट्रायल के प्रिंसिपल इनवेस्टिगेटर डॉक्टर संजय राय के मुताबिक किसी भी वैक्सीन का पहला फेज सुरक्षा के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण होता है. यही कारण है कि वैक्सीनेशन के दो घंटे तक हम मरीज को हावभाव या फिर उसको होने वाली किसी भी तकलीफ पर नजर रखते हैं. हमने कोरोना की वैक्सीन जब एक शख्स को दी तो पूरी तरह से नॉर्मल दिखाई दिया उसे किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं महसूस हुई. हमने ट्रायल के दो घंटे के बाद छुट्टी दे दी.





कोरोना वैक्सीन का ट्रायल कराने वाले हर वॉलंटियर्स को एक डायरी दी गई है. इस डायरी में उन्हें अपने अंदर होने वाले किसी भी बदलाव या दिक्कत के बारे में लिखना होगा. संजय राय ने बताया कि वॉलंटियर्स को फॉलोअप के लिए सात दिन बाद फिर से बुलाया गया है लेकिन इस बीच उन्हें किसी भी तरह की कोई दिक्कत होती है तो वह तुरंत डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं. उन्होंने बताया कि एम्स की एक टीम लगातार इन वॉलंटियर्स के संपर्क में रहेगी और उनसे हर तरह की जानकारी लेती रहेगी. बता दें कि आज भी चार लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी.
इसे भी पढ़ें :- Covid-19 Vaccine: 1 हजार रुपये से कम होगी कोरोना वैक्सीन की कीमत!

15 से 20 दिन का होगा पहला फेज
किसी भी वैक्सीन के ट्रायल का पहला फेज 15 से 20 दिन का होता है. वैक्सीनेशन के बाद इस वैक्सीन से जुड़ी हर जानकारी एथिक्स कमेटी को भेजी जाएगी. कमेटी वैक्सीन की रिपोर्ट का रिव्यू करने के बाद ही इस ट्रायल के दूसरे फेज को मंजूरी देगी. बता दें कि पूरे भारत में इस वैक्सीन के पहले फेज के ट्रायल के लिए 100 वॉलंटियर्स को चुना गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading