सहरसा में PM मोदी बोले- जंगलराज के साथियों को 'भारत माता की जय' से समस्या, चाहते हैं आप जय श्रीराम भी न बोले

पीएम मोदी ने अररिया के बाद सहरसा रैली को संबोधित किया.
पीएम मोदी ने अररिया के बाद सहरसा रैली को संबोधित किया.

Bihar Election: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अररिया के फारबिसगंज के बाद सहरसा में बीजेपी की रैली को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने बिहार में एनडीए की दोबारा सरकार बनने की उम्मीद जताई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 2:38 PM IST
  • Share this:
Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के तहत आज 17 जिलों की 94 विधानसभा सीटों पर मतदान हो रहा है. रैली और जनसभाओं का दौर अब तीसरे चरण के चुनाव को लेकर शुरू होने जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अररिया के फारबिसगंज के बाद सहरसा में बीजेपी की रैली को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने बिहार में एनडीए की दोबारा सरकार बनने की उम्मीद जताई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मैं कुछ दिनों में हर क्षेत्र में गया हूं, अभी दूसरे चरण के मतदान के जो ट्रेंड मिल रहे हैं उसने तस्वीर बिल्कुल साफ कर दी है. बिहार के लोग आत्मनिर्भर बिहार के लिए प्रतिबद्ध हैं और राज्य में फिर NDA की सरकार बनने जा रही है.'

पढ़ें सहरसा रैली में पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातें...
पीएम मोदी ने कहा, 'जंगलराज ने बिहार के सामर्थ्य के साथ जो विश्वासघात किया, उसे बिहार का हर नागरिक अच्छे से जानता है. जुबान पर बार-बार गरीब का नाम वालों ने गरीब को ही चुनाव से दूर कर दिया था. बिहार के गरीब को अपनी मर्जी की सरकार बनाने का अधिकार ही नहीं था. अब बिहार में बदलाव है.'
पीएम मोदी ने कहा कि बिहार को जंगलराज बनाने वालों के साथी, उनके करीबी क्या चाहते हैं, आपको पता है? वो चाहते हैं, आप भारत माता की जय के नारे न लगाएं. सोचिए, छठी मैया को पूजने वाली इस धरती पर जंगलराज के साथी चाहते हैं कि भारत माता की जय के नारे न लगें. वो चाहते हैं, आप जय श्री राम भी न बोलें. बिहार के चुनाव प्रचार में मां भारती का जयकारा करना इन लोगों को रास नहीं आ रहा.
पीएम मोदी ने कहा कि जरा सोचिए, बिहार में जंगलराज लाने वालों के साथियों को भारत माता से दिक्कत है. कभी एक टोली कहती है कि भारत माता की जय के नारे मत लगाओ, कभी दूसरी टोली को भारत माता की जय से सिरदर्द होने लगता है. ये भारत माता के विरोधी अब एकजुट होकर बिहार के लोगों से वोट मांग रहे हैं.
प्रधानमंत्री ने कहा, 'बीते दशक में नीतीश जी के नेतृत्व में NDA सरकार ने आत्मनिर्भर बिहार की मजबूत नींव रखी है. बिहार में बिजली, पानी, सड़क जैसी मूल सुविधाएं आज गांव-गांव पहुंच चुकी हैं. आज बिहार देश के उन राज्यों में है, जहां बिजली की खपत सबसे अधिक होती है.'
पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर बिहार यानी- बिहार का नेक्स्ट जनरेशन IT हब के रूप में विकास. आत्मनिर्भर बिहार यानी- बिहार में नए दुग्ध प्रोसेसिंग उद्योगों का विकास. आत्मनिर्भर बिहार यानी- बिहार में सैकड़ों नए किसान उत्पादक संघों का निर्माण. आत्मनिर्भर बिहार यानी- बिहार के स्थानीय उद्यमियों, स्थानीय व्यापारियों का विकास. आत्मनिर्भर बिहार यानी- बिहार के कुटीर उद्योगों का विकास. आत्मनिर्भर बिहार यानी स्थानीय भाषा में मेडिकल-इंजीनियरिंग जैसी तकनीकी शिक्षा की पढ़ाई.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना काल में आठ महीने तक गरीबों को मुफ्त में राशन मिला. आज बिहार असुरक्षा और अराजकता के अंधेर को पीछे छोड़ चुका है. बिहार में जनधन के तहत पांच करोड़ से अधिक बैंक खाते खुले, जिनमें से अधिकतर महिलाओं के नाम पर हैं.
पीएम ने कहा- 'आपके एक वोट की ताकत कम मत आंकना. जिस प्रकार से श्रीकृष्ण ने एक उंगली पर गोवर्धन को उठाया था, जिस प्रकार से ग्वालों ने समर्थन किया था, वैसे ही आपकी उंगली पर लोकतंत्र के सौभाग्य का चिह्न लगने वाला है. आपके एक-एक वोट की ताकत बिहार के उज्ज्वल भविष्य की गारंटी है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज