पटना में PM ने कहा- लालटेन काल का अंधेरा छंट चुका, अब LED बल्ब का उजाला है

बुधवार को पटना के गांधी मैदान में चुनावी रैली करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
बुधवार को पटना के गांधी मैदान में चुनावी रैली करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Bihar Election 2020: पटना रैली में तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि पुराना ट्रैक रिकॉर्ड देखकर जंगलराज के युवराज से क्या अपेक्षा करें. उन्होंने कहा कि यह वक्त अनुभवी लोगों को चुनने का है, हवा हवाई बातें करने वालों का नहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 9:04 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने दरभंगा और मुजफ्फरपुर के बाद पटना में तीसरी और आज की आखिरी रैली को संबोधित किया. पीएम मोदी ने रैली में विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि इस चुनाव में जिन्होंने बिहार में सुधार किया, विकास लेकर आए उन्हें चुनने का समय है. तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना पीएम मोदी ने कहा कि पुराना ट्रैक रिकॉर्ड देखकर जंगलराज के युवराज से क्या अपेक्षा करें. उन्होंने कहा कि यह वक्त अनुभवी लोगों को चुनने का है, हवा हवाई बातें करने वालों का नहीं.

पढ़ें पटना की रैली में पीएम मोदी के भाषण की खास बातें:-

>>पटना रैली में पीएम मोदी ने कहा, 'बीते डेढ दशक में बिहार ने नीतीश जी की अगुआई में कुशासन से सुशासन की तरफ कदम मजबूती से बढ़ाए हैं. NDA सरकार के प्रयासों के कारण बिहार ने असुविधा से सुविधा की ओर, अंधेरे से उजाले की ओर, अविश्वास से विश्वास की ओर, अपहरण उद्योग से अवसरों की ओर का एक लंबा सफर तय किया है.'



>>मोदी ने कहा कि अटल जी कभी कहते थे कि बिहार में बिजली की परिभाषा ये है, कि वो आती कम है और जाती ज्यादा है. लालटेन काल का अंधेरा अब छंट चुका है. बिहार की आकांक्षा अब लगातार बिजली और एलईडी बल्ब की है.
Bihar Election 2020: PM मोदी ने महागठबंधन पर साधा निशाना, कहा-जंगलराज के युवराज से बचकर रहना



>>प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार में पहले अस्पताल में एक डॉक्टर का मिलना दुर्लभ था. अब जगह-जगह मेडिकल कॉलेज और AIIMS जैसी सुविधाओं की आकांक्षा है. पहले गांव-गांव में मांग थी कि किसी तरह खड़ंजा बिछ जाए, अब हर मौसम में बनी रहने वाली चौड़ी सड़कों की आकांक्षा है.

>>पीएम ने कहा कि आज NDA सरकार का जोर है कि सरकारी सेवाओं और सुविधाओं से कोई क्षेत्र या कोई व्यक्ति छूट न जाए. इसके लिए ज्यादा से ज्यादा टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है. पटना में ही शहरी गरीबों को 28 हजार पक्के घर टेक्नोलॉजी के उपयोग से स्वीकृत हुए हैं.

>>बिहार में आईटी हब बनने की पूरी संभावना है. यहां पटना में भी IT की बड़ी कंपनी ने अपना ऑफिस खोला है. सिर्फ ऑफिस ही नहीं खुला है, बिहार के नौजवानों के लिए नए अवसर भी खुले हैं. बीते वर्षों में दर्जन भर बीपीओ पटना, मुजफ्फरपुर और गया में खुले हैं.

>>उन्होंने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भाषा और अवसरों के अभाव के कारण बिहार का जो हमारा गरीब और वंचित छूट जाता था, उसको सबसे ज्यादा लाभ होने वाला है.

Bihar Chunav: 3 चेहरे जिन पर खास कारणों से टिकी है सबकी नजर, जानें सियासी समीकरण

>>पीएम ने कहा कि आज पटना सहित बिहार के सभी शहरों में सड़क, पानी और सीवर जैसे बुनियादी मुद्दों पर तेज गति से काम किया जा रहा है. गंगा जी में गिरने वाले गंदे नालों का पानी साफ करने के लिए आधुनिक ट्रीटमेंट प्लांट भी लग रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज