Bihar Election 2020: बिहार में बोले PM मोदी- राजनीतिक स्वार्थ के लिए देश के खिलाफ जाने वालों से सावधान

पीएम मोदी ने बिहार में जनसभाओं को संबोधित किया.
पीएम मोदी ने बिहार में जनसभाओं को संबोधित किया.

Bihar Election 2020: पीएम मोदी ने छपरा, समस्तीपुर, पूर्वी चंपारण और बगहा में चुनावी रैलियों को संबोधित करने के दौरान विपक्षी महागठबंधन में शामिल कांग्रेस और राजद पर निशाना साधते हुए कहा कि आज देश में एक तरफ लोकतंत्र के लिए पूर्ण रूप से समर्पित एनडीए है तो वहीं दूसरी तरफ अपने निहित स्वार्थ को समर्पित पारिवारिक गठबंधन हैं.

  • Share this:
छपरा/समस्तीपुर/पूर्वी चंपारण/बगहा (बिहार). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) पर निशाना साधते हुए कहा कि आज बिहार में एक तरफ ‘‘डबल इंजन’’ की सरकार है, तो दूसरी तरफ ‘‘डबल-डबल युवराज’’ हैं. उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश चुनाव (Uttar Pradesh Elections) में जो हाल ‘‘डबल-डबल युवराज’’ का हुआ था, वही हाल बिहार में भी खासतौर पर ‘‘जंगलराज के युवराज’’ का होगा. मोदी ने ‘‘डबल-डबल युवराज’’ कह कर उत्तर प्रदेश (विधानसभा) चुनाव (2017) के दौरान गठबंधन सहयोगी रहे राहुल गांधी और सपा प्रमुख अखिलेश यादव की ओर इशारा किया. वहीं, बिहार में ‘‘डबल-डबल युवराज’’ के माध्यम से उन्होंने तेजस्वी और राहुल पर निशाना साधा.

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान पुलवामा हमले, अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण सहित केंद्र और बिहार सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का भी जिक्र किया. उन्होंने पूर्ववर्ती राज्य जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त करने, एससी/एसटी (अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति) आरक्षण, नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का उल्लेख किया और इन मुद्दों को लेकर विपक्ष पर झूठ बोलकर भ्रम एवं नकारात्मकता फैलाने का आरोप लगाया. राम मंदिर मुद्दे का उल्लेख करते हुए मोदी ने लोगों से कहा कि इस समय आपको उन लोगों को नहीं भूलना है, जो भगवान राम के अस्तित्व पर ही सवाल खड़े कर रहे थे और मंदिर निर्माण में अड़चनें डाल रहे थे.

पुलवामा हमले पर की थी भ्रम फैलाने की कोशिश
प्रधानमंत्री ने पुलवामा आतंकी हमले का जिक्र करते हुए कहा कि जब देश के जवान शहीद हुए थे, उस वक्त सत्ता एवं स्वार्थ की राजनीति करने वालों ने खूब भ्रम फैलाने की कोशिश की और ऐसे लोग आज वोट मांग रहे हैं. उन्होंने ऐसे लोगों से सचेत रहने की अपील करते हुए कहा कि दो-तीन दिन पहले पड़ोसी देश ने पुलवामा हमले की सच्चाई को स्वीकार किया है. इस सच्चाई ने उन लोगों के चेहरे से नकाब हटा दिया, जो हमले के बाद अफवाह फैला रहे थे.



गौरतलब है कि मोदी पाकिस्तान की इमरान खान सरकार के मंत्री फवाद चौधरी के वहां की संसद में पुलवामा हमले को लेकर दिए गए बयान का जिक्र कर रहे थे.

फवाद ने पाकिस्तानी संसद में कहा था कि पुलवामा हमला उनकी (खान की) सरकार के कार्यकाल की बड़ी उपलब्धि है.

एनडीए सरकार को दी जनादेश देने की अपील
मोदी ने छपरा, समस्तीपुर, पूर्वी चंपारण और बगहा में चुनावी रैलियों को संबोधित करने के दौरान विपक्षी महागठबंधन में शामिल कांग्रेस और राजद पर निशाना साधते हुए कहा कि आज देश में एक तरफ लोकतंत्र के लिए पूर्ण रूप से समर्पित राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) है, तो वहीं दूसरी तरफ अपने निहित स्वार्थ को समर्पित पारिवारिक गठबंधन हैं.

ये भी पढ़ें- नीतीश कुमार बोले- बिहार में कोई एंटी इनकंबेंसी नहीं, अतिउत्‍साह में विपक्ष कर रहा गलत विश्‍लेषण

उन्होंने बिहार को बीमार होने से बचाने के लिये लोगों से राज्य में नीतीश कुमार नीत राजग सरकार को जनादेश देने की अपील की. समस्तीपुर और बगहा में रैली में प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद थे.

मोदी ने कहा, ‘‘ आज बिहार के सामने, डबल इंजन की सरकार है, तो दूसरी तरफ डबल-डबल युवराज भी हैं. उनमें से एक तो जंगलराज के युवराज भी हैं.’’ उन्होंने ‘जंगलराज के युवराज’ शब्द के जरिए संभवत: तेजस्वी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘‘ डबल इंजन वाली राजग सरकार, बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध है, तो ये डबल-डबल युवराज अपने-अपने सिंहासन को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं.’’

लोगों को दिलाई बिहार चुनाव की याद
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का हवाला देते हुए मोदी ने कहा कि तीन-चार साल पहले वहां भी ‘‘डबल-डबल युवराज’’ (खुली) बस के ऊपर चढ़कर लोगों के सामने हाथ हिला रहे थे और उत्तर प्रदेश की जनता ने वहां उन्हें घर लौटा दिया था. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘वहां के एक युवराज अब जंगलराज के युवराज से मिल गए हैं. उत्तर प्रदेश में जो (हाल) डबल-डबल युवराज का हुआ, वही बिहार में भी होगा.’’

ये भी पढ़ें- Exclusive: तेजस्वी-चिराग पर बोले सीएम-'कोई क्रिकेट तो कोई सिनेमा से, इनके...'

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव में राजद, कांग्रेस और वाम दलों के महागठबंधन का मुकाबला भाजपा, जद(यू), हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के गठबंधन से है.

बिहार चुनाव में राजद नेता तेजस्वी यादव और कांग्रेस नेता राहुल गांधी चुनाव प्रचार कर रहे हैं. उल्लेखनीय है कि 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस का गठबंधन था.

परिवारवाद को लेकर किया तीखा हमला
प्रधानमंत्री ने विपक्षी महागठबंधन पर परिवारवाद को लेकर तीखा प्रहार किया. उन्होंने रैली में आए लोगों से पूछा, ‘‘ क्या नीतीश कुमार जी का कोई परिवार वाला सरकार में है किसी पद पर है? क्या मोदी का कोई परिवार वाला संसद में या कहीं है? क्या नीतीश कुमार का कोई भाई राज्यसभा पहुंचा ? क्या नीतीश कुमार की कोई बेटी, बेटा कहीं पहुंचा है क्या ?’’

उन्होंने लोगों से पूछा कि सिर्फ और सिर्फ अपने-अपने परिवार के लिए काम कर रही इन पारिवारिक पार्टियों ने आपको क्या दिया? बड़े-बड़े बंगले बने, तो किसके बने? महल बने, तो किसके बने?

उन्होंने कहा, ‘‘ इन पारिवारिक पार्टियों के घरों में बड़ी-बड़ी करोड़ों की गाड़ियां आईं, गाड़ियों का काफिला बना, लेकिन आपके बच्चों की चिंता क्या ये करेंगे ?’’

राजद कांग्रेस को सिर्फ परिवार की चिंता
राजद, कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि इन्हें सिर्फ अपने और अपने परिवार की चिंता है, यही सच्चाई है और यही इनका इतिहास है.

मोदी ने कहा, ‘‘आप याद करिए, जंगलराज में स्थिति तो यह थी कि जो उद्योग, जो चीनी मिलें, दशकों से चंपारण और बिहार का अहम हिस्सा रही थी, वो भी बंद हो गईं.’’ उन्होंने लोगों से ‘जंगलराज के युवराज’ से सवधान रहने की अपील की और आरोप लगाया कि जंगलराज वालों को सिर्फ अपनी बेनामी सम्पत्ति छिपाने की चिंता है.

ये भी पढे़ं- Exclusive: CM नीतीश बोले- 15 साल में 95000 नौकरी देने वाले हम पर कर रहे हमला

उन्होंने लोगों को सचेत करते हुए कहा, ‘‘ अब तो इस चुनाव में जंगलराज वालों के साथ नक्सलवाद के समर्थक, देश के टुकड़े-टुकड़े करने की चाहत रखने वालों के समर्थक भी शामिल हो गए हैं. इन्हें जरा भी मौका मिल गया तो राज्य में फिर अपराध, अराजकता का दौर आ जायेगा.’’

महागठबंधन पर साधा निशाना
राजद सहित विपक्षी महागठबंधन पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि जंगलराज के युवराज बिहार में उचित माहौल का विश्वास दे सकते हैं क्या? और क्या वह राज्य में निवेश का माहौल बना सकते हैं? प्रधानमंत्री ने राजद की पूर्ववर्ती सरकार के दौरान कानून व्यवस्था की खराब स्थिति का जिक्र करते हुए कहा कि आज के नौजवान को खुद से पूछना चाहिए कि बड़ी-बड़ी परियोजनाएं जो बिहार के लिए इतनी जरूरी थीं, वो बरसों तक क्यों अटकीं रहीं?

मोदी ने कहा कि पुल बनाने के लिए कौन काम करेगा, जब इंजीनियर सुरक्षित नहीं हों? कौन सड़क बनाएगा, जब ठेकेदार की जान चौबीसों घंटे खतरे में हो? उन्होंने कहा कि किसी कंपनी को अगर कोई काम मिलता भी था, तो वह यहां काम शुरू करने से पहले सौ बार सोचती थी.

उन्होंने कहा, ‘‘ये जंगलराज के दिनों की सच्चाई है. इसे याद रखना चाहिए. ’’ उन्होंने लालू-राबड़ी की सरकार के दौरान की कानून व्यवस्था का जिक्र करते हुए युवाओं को याद दिलाया, ‘‘ बचपन के दिनों में आपकी मां, आपको कहा करती थी कि ‘लकड़सुंघा’ आ जाएगा. असल में आपकी मां को चिंता थी कि अगर उनके बच्चे बाहर निकले तो अपहरण हो जाएगा.’’

महिला के वीडियो का भी किया जिक्र
मोदी ने लोगों से राजग को वोट देने की अपील करते हुए सोशल मीडिया पर चल रहे बिहार के एक गांव की बुजुर्ग महिला के एक वीडियो का भी जिक्र किया. मोदी ने वीडियो के हवाले से कहा, ‘‘ एक व्यक्ति उस महिला से पूछता है कि ‘मोदी को काहे खातिर वोट देबो.’ आखिर मोदी ने तुम्हारी खातिर किया क्या है?’’



प्रधानमंत्री ने स्थानीय बोली में कहा कि उस महिला ने कहा, ‘‘ मोदी हमारा के नल देहलन, लाइन देहलन, बिजली देहलन, मोदी हमरा के कोटा देहलन, राशन देहलन, पेंसिल देहलन. मोदी हमरा के गैस देहलन. उनका क्यों वोट न देबे, का तौहर के देब.’’

उन्होंने कहा कि राजग का नारा बिना भेदभाव के सबका साथ सबका विकास है और नीतीश कुमार के नेतृत्व में इसी लक्ष्य के लिए काम किया गया है.

प्रधानमंत्री ने पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के साथ लालू परिवार द्वारा खराब व्यवहार और अपमान किये जाने का भी आरोप लगाया, जिस कारण अपनी मृत्यु से से कुछ ही दिन पहले, राजद के संस्थापकों में शामिल रहे, सिंह ने पार्टी(राजद) छोड़ दिया था.

उन्होंने अपने संबोधन के दौरान देश के प्रथम राष्ट्रपति राजेद्र प्रसाद के अलावा जयप्रकाश नारायण, कर्पूरी ठाकुर सहित क्षेत्र की विभिन्न विभूतियों का उल्लेख भी किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज