Bihar Election Date: बिहार में 28 अक्टूबर से 3 चरणों में होंगे चुनाव, 10 नवंबर को रिजल्ट

बिहार में 28 से 7 नवंबर तक होगी वोटिंग.
बिहार में 28 से 7 नवंबर तक होगी वोटिंग.

Election Commission ने Bihar Election 2020 के तारीखों ऐलान कर दिया. सीईसी अरोड़ा ने बताया कि बिहार चुनाव कोरोना वायरस को ध्यान में रखकर बनाए गए गये नियमों के तहत सुरक्षा मानकों के साथ होंगे. यहां पढ़ें ECI Press Conference Live Updates

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 5:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चुनाव आयोग (Election Comission) ने शुक्रवार को बिहार विधानसभा चुनाव  (Bihar Election 2020) की तारीखों का ऐलान कर दिया है. बिहार में 28 अक्टूबर से 7 नवंबर तक तीन चरणों में मतदान होंगे. 10 नवंबर को वोटों की गिनती होगी और नतीजों का ऐलान किया जाएगा. बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है. मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि मध्य प्रदेश, कर्नाटक और यूपी के लिए उपचुनाव की तारीखों का ऐलान 29 नवंबर को किया जाएगा.

कितने सीटों पर किस फेज में चुनाव?
>>पहले फेज में 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर चुनाव होंगे. इसमें 16 जिले, 31 हजार पोलिंग बूथ होंगे.
>>दूसरे फेज में 3 नवंबर को 94 सीटों पर मतदान होगा। इसमें 17 जिले, 42 हजार पोलिंग बूथ होंगे.
>> तीसरे फेज में 7 नवंबर को 78 सीटों पर वोटिंग होगी. इसमें 15 जिले, 33.5 हजार पोलिंग बूथ होंगे.



मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) सुनील अरोड़ा ने कहा कि 70 देशों ने चुनाव टाल दिए. हम चाहते थे कि लोगों का लोकतांत्रिक अधिकार बना रहे. उनके स्वास्थ्य की भी हमें चिंता करनी थी. यह कोरोना के दौर में देश का ही नहीं, बल्कि दुनिया का पहला सबसे बड़ा चुनाव होने जा रहा है. इसलिए कई बड़े बदलाव किए गए हैं.

कोरोना के चलते वोटिंग का वक्त बढ़ा
चुनाव आयोग ने कोरोना के कारण वोटिंग का समय एक घंटा बढ़ा दिया है. नक्सल प्रभावित क्षेत्रों को छोड़कर सामान्य इलाकों में सुबह 7 से शाम 5 की बजाय सुबह 7 से शाम 6 के बीच वोटिंग होगी. एक पोलिंग बूथ पर 1500 की जगह 1000 वोटर आएंगे. मतदान के आखिरी घंटे में कोरोना मरीज भी वोट डाल सकेंगे.



46 लाख मास्क और 46 लाख ग्लव्ज
बिहार में 243 सीटें हैं। 38 सीटें आरक्षित हैं. 7.29 करोड़ लोग वोट डालेंगे. 1.73 लाख वीवीपैट का इस्तेमाल होगा. 46 लाख मास्क, 7.6 लाख फेस शील्ड, 23 लाख जोड़े हैंड ग्लव्स और 6 लाख पीपीई किट्स का इस्तेमाल होगा.

नामांकन के लिए नियम तय
इस दौरान उम्मीदवार 5 की जगह 2 ही गाड़ियां साथ ले जा सकेंगे. कोरोना के जो मरीज क्वारैंटाइन हैं, वे वोटिंग के दिन आखिरी घंटे में ही मतदान कर पाएंगे.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को भी निर्देश
CEC सुनील अरोड़ा ने कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से अपेक्षा की जाती है कि वे अपने प्लेटफ़ॉर्म के दुरुपयोग के खिलाफ सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम करें और अगर ऐसा कोई विवाद सामने आए ऐसे मुद्दों से निपटने के लिए सख्त प्रोटोकॉल बनाए जाएं.

आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) लागू
सीईसी अरोड़ा ने बताया कि इस घोषणा के साथ आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) लागू हो गई है. इनके दिशानिर्देशों के प्रभावी कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए आयोग ने पहले से ही विस्तृत व्यवस्था की है.

सिर्फ वर्चुअल प्रचार होगा
सीईसी अरोड़ा ने बताया कि सिर्फ वर्चुअल प्रचार होगा और अगर ऑफलाइन नामांकन कर रहे हैं तो 2 वाहन और 2 ही लोग साथ रहेंगे. बताया गया कि इस बार होने वाले विधानसभा चुनाव में पोलिंग बूथ पर वोटर्स की संख्या घटा दी गई है. राज्य में 7.29 करोड़ वोटर्स हैं जिसमें 3.39 करोड़ महिला और 3.79 करोड़ पुरुष मतदाता हैं.

ऑनलाइन कर सकेंगे नामांकन
इस बार विधानसभा चुनावों में प्रत्याशी ऑनलाइन नामांकन, डिपॉजिट भर सकते हैं. साथ ही वे जीत का डिजिटल प्रमाण पत्र भी पा सकते हैं.

80 वर्ष या उससे ऊपर की उम्र वालों के लिए पोस्टल बैलेट
चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा ने जानकारी दी कि 243 सीटों वाली बिहार विधानसभा में इस बार 80 वर्ष या उससे ऊपर की उम्र वाले लोग पोस्टल बैलेट से वोट डाल सकेंगे. उन्होंने कहा कि राजनीतिक दल 65 वर्ष से ही यह मांग कर रहे थे लेकिन ज्यादा बूथों की संख्या होने के कारण ऐसा नहीं किया गया.

विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर, 2020 को समाप्त
सुनील अरोड़ा ने कहा कि बिहार राज्य में विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर, 2020 को समाप्त होने वाला है. बिहार विधानसभा में 243 सदस्यों की संख्या है, जिनमें से 38 सीटें एससी और दो एसटी के लिए आरक्षित हैं.

बता दें कोरोना काल में हो रहे चुनाव के लिए आयोग ने मतदान बूथों पर सोशल डिस्टेंसिंग के सख्ती से हो पालन करने, जहां महिला वोटरों की संख्या कम हो वहां ये संख्या बढ़ाने, कैम्प लगाकर पुरुष व महिला वोटरों का अनुपात ठीक करने, वापस आये मजदूरों को शत-प्रतिशत वोटर बनाने, दिव्यांग वोटरों की सहभगिता सौ प्रतिशत करने, कोरोना को देखते हुए क्राउड मैनेजमेंट हो बेहतर करने और पर्याप्त संख्या में निर्वाचनकर्मियों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं.

उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश
उम्मीदवार को डोर टू डोर कैंपेन में सिर्फ 5 लोगों के साथ जाने की इजाजत होगी. यानी उम्मीदवार अपने साथ सिर्फ 4 लोगों को साथ ले जा सकेगा. इसके अलावा नामांकन के दौरान उम्मीदवार को अपने साथ दो लोग और दो गाड़ियों को ले जाने की इजाजत होगी.

इसके अलावा पहली बार जमानत राशि ऑनलाइन भरने की सुविधा दी गई है. पब्लिक मीटिंग और रोड शो की अनुमति गृह मंत्रालय और राज्यों के कोरोना पर दिशानिर्देशों के अनुसार मिलेगी. रोड शो में 5-5 गाड़ियों के बीच में आधे घंटे का गैप होना चाहिए.ए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज