• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सितंबर के अंत तक आ सकती है बायोलॉजिकल ई की वैक्सीन ‘कोर्बेवैक्स’

सितंबर के अंत तक आ सकती है बायोलॉजिकल ई की वैक्सीन ‘कोर्बेवैक्स’

 बॉयोलॉजिकल ई की कोविड-19 वैक्सीन कोर्बेवेक्स की भारत सरकार फेज 3 के क्लीनिकल अध्ययन से पहले ही अग्रिम बुकिंग कर चुकी है. 
 (प्रतीकात्‍मक चित्र )

बॉयोलॉजिकल ई की कोविड-19 वैक्सीन कोर्बेवेक्स की भारत सरकार फेज 3 के क्लीनिकल अध्ययन से पहले ही अग्रिम बुकिंग कर चुकी है. (प्रतीकात्‍मक चित्र )

Biological E Vaccine: केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वास्थ्य) डॉ. भारती प्रवीन पवार का कहना है कि भारत सरकार घरेलू वैक्सीन बायोलॉजिकल ई को आर्थिक सहायता भी मुहैया करवाएगी. फेज 3 के एडवांस क्लीनिकिल ट्रायल के दौर पर चल रही वैक्सीन के 2021 तक भारत को 30 करोड़ डोज प्राप्त होंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. बायोलॉजिकल ई (Biological E) अगस्त के अंत तक आपातकालीन उपयोग के लाइसेंस के लिए आवेदन दे सकता है. दिसंबर 2021 तक ये भारत सरकार को 30 करोड़ डोज की आपूर्ति करेगा. सूत्रों के मुताबिक हैदराबाद की दवा कंपनी बायोलॉजिकल ई, की वैक्सीन कोर्बेवेक्स (Corbevax) की सितंबर के अंत तक भारत में लॉन्च होने की संभावना है. एएनआई के सूत्रों के मुताबिक कंपनी ने फेज 3 का ट्रायल शुरू कर दिया है. बॉयोलॉजिकल ई की कोविड-19 वैक्सीन कोर्बेवेक्स की भारत सरकार फेज 3 के क्लीनिकल अध्ययन से पहले ही अग्रिम बुकिंग कर चुकी है.

    केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वास्थ्य) डॉ. भारती प्रवीन पवार का कहना है कि भारत सरकार घरेलू वैक्सीन बायोलॉजिकल ई को आर्थिक सहायता भी मुहैया करवाएगी. फेज 3 के एडवांस क्लीनिकिल ट्रायल के दौर पर चल रही वैक्सीन के 2021 तक भारत को 30 करोड़ डोज प्राप्त होंगे. ये खबर तब आई है जब विशेषज्ञों ने सरकार को टीकाकरण मे तेजी लाने और कोविड-19 से जुड़े व्यवहार (मास्क पहनना, शारीरिक दूरी बनाए रखना और कंटेनमेंट जोन बनाने) को बनाए रखने का अनुरोध किया है, ताकि अपेक्षित तीसरी लहर पर लगाम लगाई जा सके. जिसके देश में सितंबर में दस्तक देने का डर बना हुआ है.

    ये भी पढ़ें- जानें येडियुरप्पा के उस बेटे के बारे में, जो उनके इस्तीफे की बड़ी वजह बने

    तीसरी लहर के लिए करनी होगी तैयारी
    विशेषज्ञों की समिति ने अनुरोध किया है कि स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा बेहद अहमियत रखता है. जिससे रोज़ाना 4 लाख मामलों को संभाला जा सके. इसके साथ ही करीब 2 लाख आईसीयू बेड्स और 1 लाख वेंटिलेटर बेड्स की ज़रूरत होगी. इसके साथ ही टीकाकरण और कोविड से जुडे प्रोटोकॉल को मानना भी जारी रखना होगा.

    कोविड-19 के हालात को नियंत्रित करने और देश के स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा दुरुस्त करने के लिए 23 हज़ार करोड़ कोविड प्रबंधन पैकेज की घोषणा की है. राज्यों को भी स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे के लिए योजना भेजने का निर्देश दिया गया है जिसके आधार पर राज्यों को तुरंत आर्थिक मदद मुहैया करवा दी जाएगी. वहीं भारत में कोविड-19 वैक्सीन के अभी तक 43.51 करोड़ डोज लग चुके हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज