लाइव टीवी

5000 परिवारों को गाय गिफ्ट करेंगे त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब

News18.com
Updated: November 5, 2018, 1:00 PM IST
5000 परिवारों को गाय गिफ्ट करेंगे त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब

उन्होंने कहा, 'मैं बड़े उद्योग स्थापित करने के खिलाफ नहीं हूं. लेकिन 2000 लोगों को रोजगार देने के लिए 10,000 करोड़ रुपये निवेश करना ही पड़ेगा.'

  • News18.com
  • Last Updated: November 5, 2018, 1:00 PM IST
  • Share this:
कुपोषण से लड़ने और रोजगार पैदा करने के लिए त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने पांच हजार परिवारों को 10,000 गायें बांटने की घोषणा की है. उन्होंने कहा, 'हम 5000 परिवारों के रोजगार के लिए यह योजना शुरू करने जा रहे हैं. जिसके बाद छह महीने में उनकी कमाई शुरू हो जाएगी.' उन्होंने कहा कि इससे गरीबी और कुपोषण से भी लड़ने में मदद मिलेगी.

उन्होंने कहा, 'मैं बड़े उद्योग स्थापित करने के खिलाफ नहीं हूं. लेकिन 2000 लोगों को रोजगार देने के लिए 10,000 करोड़ रुपये निवेश करना ही पड़ेगा. लेकिन अगर मैं 5000 परिवारों को 10,000 गायें दूंगा तो वे छह महीने में कमाई शुरू कर देंगे.' ऐसा पहली बार है जब लोगों को रोजगार देने के लिए ऐसी योजना चलाई जा रही है.

ये भी पढ़ें: बिप्लब देब बोले- असम में कामयाब हुई NRC तो त्रिपुरा में भी लागू करेंगे

इससे पहले उन्होंने दावा किया था कि त्रिपुरा के युवा सरकारी नौकरियों के लिए राजनीतिक दलों के पीछे भाग रहे हैं. उन्होंने युवाओं को चिन्हित करते हुए कहा था कि यह समय महत्वपूर्ण है और गाय के दूध को बर्बाद न करें. कुछ न मिले तो जीविका चलाने के लिए 'पान' की दुकान ही खोलें.



ये भी पढ़ें: प्रतिबंधित संगठन एनएलएफटी चाहता है सरकार से शांति वार्ता, जारी की प्रेस रिलीज

उन्होंने कहा था, 'सरकारी नौकरियों के लिए नेताओं के पास क्यों दौड़ते हो. ग्रेजुएट को 10 साल में 10 लाख रुपये कमाने के लिए गाय और दूध मिलना चाहिए.' मुख्यमंत्री ने कहा था कि राजनीतिक दलों के पास दौड़ने के बजाय अगर वही युवा एक पान की दुकान खोल लेता तो उसके पास अब तक 5 लाख रुपये की सेविंग होती.

जिम ट्रेनर से मुख्यमंत्री बने देब ने कहा कि वह उदाहरण के तौर पर अपने घर पर भी गायों का पालन शुरू करेंगे. उन्होंने कहा, 'आज मैं घोषणा करता हूं कि मैं अपने परिवार के साथ सीएम निवास में गायों का पालन शुरू करूंगा और उसका दूध भी पीऊंगा. जिससे मैं यहां के लोगों को प्रोत्साहित कर सकूं. ऐसा करके हम कुपोषण से मजबूती से लड़ सकते हैं.'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2018, 1:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर