अपना शहर चुनें

States

दिल्ली-महाराष्ट्र समेत 10 राज्यों में फैला बर्ड फ्लू, संसदीय कमेटी ने बुलाई मीटिंग, 10 अपडेट्स

बर्ड फ्लू के फैलते खतरे पर संसदीय कमेटी ने आज (सोमवार) बैठक बुलाई है. (PTI)
बर्ड फ्लू के फैलते खतरे पर संसदीय कमेटी ने आज (सोमवार) बैठक बुलाई है. (PTI)

Bird Flu outbreak in India: केंद्र सरकार ने चिड़ियाघरों के प्रबंधनों को निर्देश दिया है कि वे पर्यावरण मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण (सीजेडए) को दैनिक रिपोर्ट भेजें. ऐसा तब तक करना होगा जब तक कि क्षेत्र को रोगमुक्त घोषित नहीं कर दिया जाता.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2021, 7:15 PM IST
  • Share this:
Bird Flu outbreak in India: कोरोना वायरस अभी गया भी नहीं था कि बर्ड फ्लू फैलता जा रहा है. देश में अब तक 9 राज्यों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है. नया राज्य राजधानी दिल्ली है. कुछ दिनों पहले 8 बत्‍तखों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था. अब उसकी रिपोर्ट आ गई है. इसके अनुसार, 3 बत्‍तख और 5 कौओं में बर्ड फ्लू (Bird Flu) की पुष्टि हुई है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और महाराष्ट्र में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. इससे पहले मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और केरल में बर्ड फ्लू के मामले सामने आ चुके हैं. बर्ड फ्लू के फैलते खतरे पर संसदीय कमेटी ने आज (सोमवार) बैठक बुलाई है.



आइए जानते हैं बर्ड फ्लू पर अभी तक के अपडेट्स:-
महाराष्ट्र में बर्ड फ्लू को लेकर पुष्टि हुई है. आईसीएआर-एनआईएचएसएडी की परीक्षण रिपोर्ट से पुष्टि होती है कि मुंबई, ठाणे, परभणी, बीड और रत्नागिरी के दापोली में पक्षियों की मौत बर्ड फ्लू के कारण हुई. पशुपालन सचिव अनूप कुमार का कहना है कि कलेक्टरों को सतर्कता बढ़ाने के लिए कहा गया है.
दिल्ली में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. एनिमल हसबैंडरी विभाग के मुताबिक, जालंधर भेजे गए 8 सैम्पल पॉजिटिव पाए गए हैं. दिल्ली में बीते कई दिनों से पक्षियों की मौत हो रही है. बीते 4 दिन के अंदर 97 कौवों और 27 बत्तखों की मौत हो चुकी है.
यूपी में बर्ड फ्लू की एंट्री कानपुर से हुई, जहां चिड़ियाघर में चार मरे पक्षियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इसके बाद चिड़ियाघर को सील कर दिया गया. कानपुर चिड़ियाघर में दो दिनों में 10 पक्षी मरे मिले. अब उस बाड़े के सभी पक्षियों को मारने के आदेश दिए गए हैं. कानपुर प्रशासन ने पूरे इलाके को रेड जोन घोषित कर दिया, जहां लोगों के आने पर भी मनाही है.
हरियाणा में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के एक दिन बाद पंचकूला के बरवाला क्षेत्र में पक्षियों को मारना शुरू हो गया है. बरवाला एशिया में दूसरा सबसे बड़ा पोल्ट्री उत्पादक है. पशुपालन विभाग ने कुल 1.6 लाख में से दो पोल्ट्री फार्म में 3,700 पक्षियों को मार डाला. इस क्षेत्र में अब तक 4.4 लाख से अधिक पोल्ट्री पक्षियों की मौत हो चुकी है.
केरल में बड़ी संख्या में पक्षियों के एच-5 एन-8 वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद बर्ड फ्लू को राज्य आपदा घोषित कर दिया गया है. ये वायरस अलप्पुझा और कोट्टायम जिले में मिला है. यहां के कुछ शहरों में चिकन और अंडे शॉप अगले आदेश के लिए बंद कर दिए गए हैं. साथ ही लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की गई है.
गुजरात के सूरत जिले में कौवों और वन्य पक्षियों के नमूनों में एवियन इन्फ्लुएंजा की पुष्टि हुई है. जूनागढ़ पशु पालन विभाग के उप निदेशक एस एन वघासिया ने बताया कि पिछले 9 दिन में गिर सोमनाथ के चिखली गांव के एक मुर्गीपालन फार्म में 18 मुर्गियां मरी हुई पाई गई हैं.
राजस्थान के अधिकारियों का कहना है कि राजस्थान में रविवार को 428 पक्षियों की मौत हुई है. इसी के साथ अब पक्षियों की कुल मौत का आंकड़ा बढ़कर 2,950 पहुंच गया है.
मध्य प्रदेश के 13 जिलों के कौओं के नमूनों में बर्ड फ्लू के एच5एन8 प्रकार का संक्रमण पाया गया है. मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘राज्य में अब तक 13 जिलों- इंदौर, मंदसौर, आगर मालवा, नीमच, देवास, उज्जैन, खंडवा, खरगौन, गुना, शिवपुरी, राजगढ़, शाजापुर व विदिशा- में कौओं में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है.
केंद्र सरकार ने चिड़ियाघरों प्रबंधनों को निर्देश दिया है कि वे पर्यावरण मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण (सीजेडए) को दैनिक रिपोर्ट भेजें. ऐसा तब तक करना होगा जब तक कि क्षेत्र को रोगमुक्त घोषित नहीं कर दिया जाता. सीजेडए ने कार्यालयी ज्ञापन जारी कर चिड़ियाघरों के प्रबंधन को निर्देश दिया कि वह निगरानी रखें और पक्षियों के दड़बों के प्रबंधन को मजबूत करें.
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में रविवार को पोंग बांध वन्यजीव अभयारण्य में 215 प्रवासी पक्षी मृत पाए गए, जिससे संदिग्ध रूप से एवियन इंफ्लूएंजा से मरने वाली ऐसी चिड़ियों की संख्या बढ़कर 4,235 हो गई है. सोलन जिले में भी लगातार चौथे दिन बड़ी संख्या में मृत मुर्गे-मुर्गियां चंडीगढ़-शिमला राजमार्ग के किनारे फेंके पाए गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज