Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    ओडिशा में बीजद नेता रणेंद्र प्रताप स्वैन के बिगड़े बोल, भाजपा विधायक की मौत को बताया 'अवसर'

    बीजेडी नेता के बयान की भाजपा ने निंदा की है.
    बीजेडी नेता के बयान की भाजपा ने निंदा की है.

    एक चुनावी सभा के दौरान खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता कल्याण मंत्री रणेंद्र प्रताप स्वैन ने भाजपा विधायक मदन मोहन दत्ता के निधन को एक अच्छा मौका बताया है. भाजपा विधायक के निधन के चलते बालासोर में तीन नवंबर को उपचुनाव होने हैं.

    • Share this:
    भुवनेश्वर. ओडिशा में बीजद (Biju Janta Dal) के एक उम्मीदवार के प्रचार में पहुंचे पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्य सरकार के मंत्री रणेंद्र प्रताप स्वैन (Minister Ranendra Pratap Swain) के बयान से सियासी गलियारों में विवाद को जन्म दे दिया है. उन्होंने चुनावी सभा के दौरान स्थानीय भाजपा विधायक मदन मोहन दत्ता (Late MLA Madan Mohan Dutta) के निधन पर दुख जताने के बजाए अवसर बता दिया. हालांकि, उन्होंने अपना बचाव में कहा कि बयान को गलत तरीके से लिया गया है.

    क्या कहा स्वैन ने?
    स्वैन ने कहा, ‘बालासोर का विकास अपेक्षित स्तर तक नहीं पहुंच सका क्योंकि यहां के लोगों ने बीजद के खिलाफ मतदान किया था. अब, भगवान के जरिए उन्हें यह अवसर प्राप्त हुआ है और लोगों को इसका उपयोग करना चाहिए.’ भाजपा ने इस ‘असंवेदनशील’ बयान की निंदा की है.

    हालांकि इस टिप्पणी पर स्वैन को अपनी पार्टी से भी समर्थन हासिल नहीं होने के बाद उन्होंने कहा कि उनकी टिप्पणी को गलत तरीके से लिया गया और उनका इरादा किसी को भी चोट पहुंचाने का नहीं था. बालासोर (Balasore) में तीन नवंबर को उपचुनाव के लिए मतदान होगा. यहां के भाजपा विधायक मदन मोहन दत्ता के निधन के बाद यहां चुनाव की जरूरत पड़ी है.
    विपक्ष ने स्वैन के बयान को बालासोर की जनता का अपमान बताया


    विधानसभा में विपक्ष के नेता पी के नाइक ने शनिवार को स्वैन के बयान को बालासोर के लोगों का अपमान करार दिया. भाजपा नेता ने कहा, ‘एक विधायक की मौत किसी मंत्री के लिए अवसर कैसे हो सकता है? उनका बयान असंवदेनशील और राजनीतिक की मर्यादा के अनुसार नहीं है. बालासोर के लोग इस तरह की टिप्पणियों का कड़ा जवाब देंगे.’

    शुक्रवार केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Union Minister Dharmendra Pradhan) ने भी एक चुनावी सभा में स्वैन के बयान की निंदा की और इसे दुर्भाग्यपूर्ण और एक स्वस्थ लोकतंत्र (Democracy) के लिए बुरा करार दिया. उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति की अकाल मृत्यु अवसर नहीं हो सकता है.

    दिवंगत नेता के बेटे ने भी दर्ज कराया विरोध
    वहीं दिवंगत विधायक के बेटे और भाजपा उम्मीदवार मानस रंजन दत्ता (Manas Ranjan Dutta) ने भी इस टिप्पणी पर निराशा जाहिर की. इस पर स्वैन ने कहा कि मानस उनके बेटे जैसे हैं और अगर भाजपा नेता इससे आहत हुए हैं तो वह दुखी हैं. दत्ता के अलावा तिरतोल के बीजद विधायक बी सी दास का भी निधन हाल ही में हो गया था और यहां भी तीन नवंबर को उपचुनाव कराया जाएगा.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज