'थिंक इंडिया' प्‍लान BJP सांसदों के लिए बना 'हथियार', संसद में दिखा ये रंग

सभी विद्यार्थी थिंक इंडिया के मार्फत आए जिसने वरिष्ठ भाजपा नेता और केंद्रीय संसदीय कार्य मत्री प्रह्लाद जोशी से उनके संसदीय (संसदीय इंटर्नशिप कार्यक्रम) के लिए संपर्क किया था.

भाषा
Updated: July 29, 2019, 10:33 PM IST
'थिंक इंडिया' प्‍लान BJP सांसदों के लिए बना 'हथियार', संसद में दिखा ये रंग
भाजपा ने अपने सांसदों के लिए किया ये खास काम. (पीटीआई)
भाषा
Updated: July 29, 2019, 10:33 PM IST
अपनी तरह की पहली पहल के तहत भाजपा ने संसद में अपने सांसदों के और प्रभावी बनने में उन्हें सहयोग पहुंचाने के लिए आईआईएम और आईआईएससी जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों के मेधावी विद्यार्थियों को उनके साथ काम करने के लिए इंटर्न बनाया है.

भाजपा संसदीय दल के सचिव बालासुब्रमण्यम के ने बताया कि भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc), बेंगलुरु के भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM), भारतीय राष्ट्रीय विधि महाविद्यालय, राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य एवं स्नायु विज्ञान संस्थान के 40 विद्यार्थियों को 17वीं लोकसभा के पहले सत्र के लिए सांसदों के साथ जोड़ा गया था.

सांसदों को मिला ये फायदा
इन विद्यार्थियों की उनकी भूमिका को लेकर सराहना करते हुए बालासुब्रमण्यम ने बताया कि उन्होंने ढेर सारा शोध किया, विविध विषयों का अध्ययन किया और पार्टी सांसदों को इस सत्र के दौरान महत्वूपर्ण जानकारियां दीं. यह सदन में पार्टी सांसदों के भाषण एवं सक्रिय भागीदारी में परिलक्षित हुआ.

खासकर दो मौकों पर, राष्ट्रपति के अभिभाषण और केंद्रीय बजट पर चर्चा के दौरान वे सांसदों को तैयार करने में बड़े मददगार साबित हुए. इसी के साथ इन विद्यार्थियों को एक अच्छा मौका मिला क्योंकि उनमें से कई सिविल सेवाओं की तैयारी कर रहे हैं.

थिंक इंडिया पहल के साथ आए विद्यार्थी
ये सभी विद्यार्थी थिंक इंडिया के मार्फत आए जिसने वरिष्ठ भाजपा नेता और केंद्रीय संसदीय कार्य मत्री प्रह्लाद जोशी से उनके संसदीय (संसदीय इंटर्नशिप कार्यक्रम) के लिए संपर्क किया था. जोशी को भेजे गये थिंक इंडिया के पत्र के अनुसार पार्टी को विद्यार्थियों और विविध क्षेत्रों के पेशेवरों से 600 से अधिक आवेदन मिले थे. मूल्यांकन की कड़ी प्रक्रिया के बाद 40 विद्यार्थियों को सांसद के साथ इंटर्नशिप के लिए चुना गया.
Loading...

 

ये बोले एबीवीपी अध्‍यक्ष
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के अध्यक्ष एस सुब्बैया ने कहा कि थिंक इंडिया इस देश की श्रेष्ठ मेधाओं को साथ लाने और उनमें ‘देश प्रथम’ की भावना भरने के लिए परिषद की एक पहल है.

ये भी पढ़ें-उन्नाव रेप पीड़िता एक्सीडेंट: प्रियंका गांधी ने यूपी के नेताओं को दिया ये आदेश

सरकार ने पोंजी स्‍कीमों को बैन करने वाले विधयेक को दी मंजूरी, पुलिस को मिली ये बड़ी ताकत
First published: July 29, 2019, 10:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...